Breaking News:

पावन प्रसिद्ध पौराणिक मन्दिर में रोज़ा इफ़्तार ? . जानिए किस के आदेश पर

तथाकथित धर्म निरपेक्षता के प्रतीक बन दिल्ली में रमज़ान में मुसलमानों को फ्री यात्रा करवाने वाले ऑटो ड्राइवर की कल खबर के बाद अब मिलिए दक्षिण भारत के सबसे सेकुलर व्यक्ति मोहन नायर से जो जिस मन्दिर की कमेटी में सदस्य थे उसी में करवा रहे हैं रोज़ा इफतरी ..इन्होंने खुद से खोज खोज कर मुसलमानो को पावन पौराणिक मन्दिर में बुलाया और उनके लिए अपने पैसे से फल और रोज़ा तोड़ने वाले तमाम खाद्य पदार्थ जमा किये ..यहां ध्यान देने योग्य है कि मन्दिर कमेटी के इन सेकुलर सदस्य ने केरल में हुई हिंदुओं की एक के बाद हुई हत्याओं पर एक भी शब्द नही बोला था न ही उनके परिवारों को उस सम्मान से बुलाया जिस सम्मान से इन्होंने रोज़ेदारों को बुलावा भेजा है ..

मन्दिर कमेटी के इस सेकुलर सदस्य का मानना है कि धार्मिक उन्‍माद और नफरत के बीच कई बार आपका मन इंसानियत से उठ जाता है. इस समय वर्तमान मे फैलती नफरत और कट्टरवाद के बीच नफरत की आग को बुझाने का उनकी तरफ से प्रयास हुआ है,जो उन्हें आत्मसंतोष प्रदान कर रहा है   उन्होंने बाकी मंदिरों से भी उनकी ही तरह रोज़ा इफतरी आदि करवाने की अपील करते हुए कहा कि- “धीरे धीरे ऐसे प्रयास होते रहे तो ज़रूर एक न एक दिन देश मे फैली नफरत का खात्मा ज़रूर होगा।”

विदित हो कि वामपंथ शासित केरल के मल्‍लापुरम जिले के एक विष्‍णु मंदिर रमज़ान के दौरान मुस्लिमों के लिए मंदिर के अंदर इफ्तार पार्टी आयोजित करने की योजना बना रहा है। पुन्‍नाथला के लक्ष्‍मी नारायण मूर्ति मंदिर ने फैसला किया है कि दो समुदायों के बीच सद्भावना बढ़ाने के लिए इफ्तार पार्टी दी जाएगी। ऐसे में मंदिर करीब 700 रोज़ेदारों को इफ्तार में वेज बिरयानी, नाश्‍ता, फल, जूस और स्‍पेशल पेय पदार्थों को परोसेगा। यह मंदिर के प्रतिष्‍ठा दिनम त्‍योहार का हिस्‍सा है. त्‍योहार के दूसरे दिन इफ्तार का आयोजन किया जाएगा. इस आयोजन की घोषणा के बाद हिन्दू समूहों ने तीखी प्रतिक्रिया दी है ..

राष्ट्रवादी पत्रकारिता को समर्थन देने हेतु हमे आर्थिक सहयोग करे. DONATE NOW पर क्लिक करे
DONATE NOW