मुसलमानों का 4 शादियों का अधिकार खत्म करे सरकार – जगतगुरु शंकराचार्य स्वरूपानंद जी

कॉमन सिविल कोड की तरफ तेजी से बढ़ रहे समाज के निर्माण के लिए अब सन्तों ने भी ताल ठोंक दी है ..इस मुद्दे पर शंकराचार्य स्वामी स्वरूपानंद जी ने अचानक ही एक बेहद जरूरी मुद्दे पर जनमानस का ध्यान दिलाया है जो कि तीन तलाक जैसे ही आवश्यक बताया जाता है और एक बार फिर मुस्लिम बहनो के जीवन से सीधा सम्बन्ध रखता है ..
विदित हो कि तीन तलाक बिल को लेकर राज्यसभा में हाे रहे हंगामे के दाैरान द्वारिका पीठ के शंकराचार्य स्वामी स्वरूपानंद सरस्वती ने बड़ा बयान दिया है। उन्होंने कहा है कि बिल पास कराने से पहले मुसलमानों की 4 शादियों की छूट पर तत्काल बिना विलम्ब के प्रतिबंध लगना चाहिए। वहीं स्वामी के इस बयान से मुसलमानों में तीन तलाक के साथ-साथ अब 4 शादियों को लेकर भी एक नई बहस शुरू हो गई है।
शंकराचार्य ने एक तरह से कॉमन सिविल कोड लागू करने की भी केन्द्र सरकार से मांग की है। शंकराचार्य जी ने आगे बोलते हुए बताया कि मुसलमानों में अगर 4 शादियों पर केंद्र सरकार कानून बनाकर प्रतिबन्ध लगा देगी तो इन्हें तीन तलाक देने की ही नौबत नहीं आएगी। जिस तरह से हिन्दुओं में पहली पत्नी की सहमति से दूसरा विवाह करने की छूट थी और उसे कानून के जरिए खत्म कर दिया गया, उसी तरह से मुसलमानों के लिए भी 4 शादियां करने पर कानून बनाकर रोक लगाया जाना चाहिए।
Share This Post