देश देख रहा है कट्टरपंथ का नंगा नाच..एक मुस्लिम लड़की के बाल उखाड़ने का जारी हुआ रेट

हिन्दू तालिबान हिन्दू तालिबान कहने वालों की जुबान को उस समय लकवा मार गया जब मजहबी कट्टरपंथियों द्वारा दो मुस्लिम महिलाओं के सर से बाल उखाड़कर लाने वाले को इनाम देने का एलान किया गया. आपको बता दें कि हलाला, तीन तलाक और बहुविवाह के खिलाफ आवाज उठाने वाली उत्तर प्रदेश में बरेली के आला हजरत खानदान की पूर्व बहू निदा खान के खिलाफ एकबार फिर से मुस्लिम रुढ़िवादियों ने फतवा जारी किया है. निदा खान के अलावा आला हजरत खानदान की ही एक अन्य महिला फरहत नकवी के खिलाफ भी फतवा जारी किया गया है. इस बार जारी फतवे में कहा गया है कि निदा और फरहत की चोटी काट कर देने और उनको पत्थर मारने वाले को इनाम दिया जाएगा.

गौरतलब है कि निदा और फरहत के खिलाफ इस बार यह फतवा ऑल इंडिया फैजान-ए-मदीना ने जारी किया है. ऑल इंडिया फैजान-ए-मदीना काउंसिल के अध्यक्ष मुईन सिद्दीकी नूरी ने निदा और फरहत की चोटी काटकर लाने और उन्हें पत्थर मारने वाले को 11,786 रुपये का इनाम देने का ऐलान किया है. इतना ही नहीं निदा और फरहत को फतवे में 3 दिन के अंदर देश छोड़ने का आदेश भी दिया गया है. जानकारी के मुताबिक, जारी किए गए फतवे में दोनों महिलाओं के खिलाफ अपशब्दों का इस्तेमाल भी किया गया है. गौरतलब है कि निदा को उसके शौहर ने तीन तलाक दे दिया था. इसके विरोध में निदा ने कोर्ट का दरवाजा खटखटाया. कोर्ट ने पिछले हफ्ते ही निदा को उसके पति द्वारा दिए गए तलाक को खारिज कर दिया.

बीते सोमवार को बरेली के शहर इमाम मुफ्ती खुर्शीद आलम ने भी निदा खान के खिलाफ फतवा जारी कर उनका हुक्का-पानी बंद कर दिया था. इस फतवे में निदा की मदद करने वाले और उससे मिलने-जुलने वाले मुसलमानों को चेतावनी दी गई थी कि ऐसा करने वालों को भी इस्लाम से खारिज कर दिया जाएगा. मुफ्ती आलम द्वारा जारी फतवे में यह भी कहा गया था कि निदा अगर बीमार हो जाती हैं तो उसको दवा तक नहीं दी जाएगी. निदा की मौत पर जनाजे की नमाज पढ़ने पर भी रोक लगा दी गई है. इतना ही नहीं निदा की मौत होने पर उसे कब्रिस्तान में दफनाने पर भी रोक लगाने की बात इस फतवे में थी.

Share This Post

Leave a Reply