Breaking News:

सेना पर हुई कार्यवाही तो चली जायेगी सरकार .. फ़ौज संग फौलाद जैसे खड़े हुए स्वामी

शोपियां गोलीकांड मामले में सेना के विरुद्ध एफआयआर दर्ज कराने पर भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के नेता एवं राज्यसभा सांसद सुब्रमण्यम स्वामी मंगलवार को जम्मू-कश्मीर की महबूबा सरकार को चेतावनी ! जम्मू-कश्मीर के शोपियां जिले में शनिवार को दो नागरिक तब मारे गए जब सेना के जवानों ने पथराव कर रही भीड से बचने और आत्मरक्षा में गोलियां चलाईं । इस घटना के बाद से भाजपा और पीडीपी आमने-सामने आ गई हैं ।

स्वामी ने समाचार एजेंसी एएनआय से कहा, ‘यह क्या बेहुदापन है ? महबूबा सरकार बर्खास्त की जानी चाहिए । महबूबा मुफ्ती को यह कहा जाना चाहिए कि वह सेना के विरुद्ध एफआयआर वापस लें, नहीं तो उनकी सरकार बर्खास्त कर दी जाएगी !’ बता दें कि शनिवार को शोपियां में पत्थरबाजों ने सेना पर हमला किया और सेना ने अपने बचाव में गोलीबारी की जिसमें दो युवकों की मृत्यु हो गई । मुख्यमंत्री महबूबा ने इस घटना की जांच के आदेश दिए हैं । 
पुलिस ने रविवार को सेना के गढवाल यूनिट के १० सेनाकर्मियों के विरुद्ध रणबीर पेनल कोड के ३०२ (हत्या) एवं ३०७ (हत्या का प्रयास) के तहत एफआयआर दर्ज किया । इस यूनिट का नेतृत्व करनेवाले सेना के एक मेजर का नाम भी एफआयआर में दर्ज है ! स्वामी ने कहा, ‘आखिरकार, भाजपा वहां सरकार क्यों चला रही ? मैं आज तक यह बात समझ नहीं पाया हूं !’आत्मरक्षा में चलाई गई गोलियों से कई पत्थरबाज हुए थे घायल’ 
पुलिस अधिकारियों ने बताया कि प्रदर्शनकारियों ने शोपियां जिले के गनोवपुरा गांव से गुजर रहे सुरक्षा बलों के एक काफिले पर पथराव किया । जवानों ने प्रदर्शनकारियों को खदेडने के लिए हवा में कथित तौर पर कई चक्र गोलियां भी चलाईं जिसमें कुछ लोग घायल हो गए । हालांकि, एक रक्षा प्रवक्ता ने बताया कि जवानों ने तब गोलियां चलाईं जब भीड ने एक जूनियर कमीशंड अधिकारी की पीट-पीटकर हत्या करने का प्रयास किया और उनका हथियार छीन लिया ! घायल पत्थरबाजो में जावेद अहमद भट और सुहैल जावेद लोन की बाद में मृत्यु हो गई । अधिकारियों ने बताया कि गंभीर स्थिति में एक अन्य युवक को श्रीनगर में एक अस्पताल ले जाया गया ।
Share This Post