Breaking News:

सस्ती उड़ान सेवा का पीएम मोदी ने किया शुभारंभ, कहा- हवाई जहाज में हवाई चप्पल वाले भी दिखें

नई दिल्ली : प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने आज महत्वाकांक्षी उड़ान स्कीम के तहत शिमला से दिल्ली की पहली फ्लाइट का उद्धाटन किया। इस दौरान पीएम मोदी ने कहा कि अगर युवाओं को मौका मिलेगा तो वे देश की तकदीर और तस्वीर बदल देंगे। पूरा देश मानता है कि हवाई यात्रा के लिए सबसे ज्यादा अवसर भारत में हैं। उन्होंने कहा कि मेरी चाहत है कि हवाई जहाज में हवाई चप्पल वाले भी दिखें। आम आदमी के लिए सस्ती उड़ान सेवा का यही लक्ष्य यही होना चाहिए। पीएम ने कहा कि उड़ान स्कीम से हिमाचल प्रदेश में टूरिज्म को भी बढ़ावा मिलेगा। उड़ान का अर्थ है- उड़े देश का आम नागरिक।

बता दें कि इस योजना की खास बात यह है कि 500 किलोमीटर तक की उड़ानों का किराया 2500 रुपये होगा। क्षेत्रीय रूप से महत्वपूर्ण क्षेत्रों में हवाई यात्रा नागरिकों तक सुलभ बनाने के लिए ‘उड़े देश का आम नागरिक’ आरसीएस (क्षेत्रीय सम्पर्क योजना) अक्टूबर, 2016 में लाई गई थी। पश्चिमी क्षेत्र में 24 हवाई अड्डे, उत्तरी क्षेत्र में 17, दक्षिणी क्षेत्र में 11 हवाई अड्डे, पूर्व में 12 और देश के पूर्वोत्तर में छह हवाई अड्डों को इस योजना के तहत जोड़े जाने का प्रस्ताव है। इस कार्यक्रम के तहत सरकार का इरादा 45 ऐसे हवाई अड्डों को जोड़ने का है, जहां से कम उड़ानें संचालित होती हैं।

पीएम मोदी ने कहा कि अटल जी की सरकार के समय मैंने तत्कालीन उड्डयन मंत्री राजीव प्रताप रूडी से कहा कि महाराज के लोगो की जगह कार्टूनिस्ट आरके लक्ष्मण का कॉमनमैन क्यों नहीं लग सकता। अपनी खुशी जाहिर करते हुए उन्होंने कहा कि मैं बहुत खुश हूं कि देश में पहली बार ऐविएशन पॉलिसी बनाने का सौभाग्य मेरी सरकार को मिला। आज हवाई चप्पल पहनने वाले भी हवाई यात्रा कर सकते हैं। पीएम ने ऐविएशन कंपनियों को सलाह दी कि अगर वे व्यापारिक नजरिए से सोचें कि नांदेड़ साहिब, पटना साहिब और अमृतसर साहिब का रूट बनाएंगे तो उन्हें बहुत फायदा होगा। 30 नए एयरपोर्ट से टीयर-2 और टीयर-1 शहरों को इस योजना से जोड़ा जाएगा।

Share This Post