प्रशांत भूषण के खिलाफ जगह-जगह विरोध प्रदर्शन, क्योंकि प्रशांत ऐसे हिंदू हैं जिन्होंने हिंदुओं की भावनाओं को किया आहत

नई दिल्ली : स्वराज इंडिया के नेता और सुप्रीम कोर्ट के वकील प्रशांत भूषण को भगवान श्री कृष्ण के खिलाफ भद्दी टिप्पणी करना महंगा पड़ रहा है। बीजेपी और कांग्रेस ने भूषण के खिलाफ एफआईआर दर्ज करा दी है। दरअसल, प्रशांत भूषण ने यूपी में चल रहे एंटी रोमियो स्क्वॉर्ड के नाम पर सवाल खड़े कर दिए थे।

उन्होंने ट्वीट के जरिए नाम बदलने की बात कही थी। जिसके बाद सोशल मीडिया पर भूषण के खिलाफ अभियान चलाया गया और कड़ी अलोचना भी हुई। आपको बता दें कि भूषण ने ट्वीट कर कहा कि रोमियो ने तो सिर्फ एक महिला के साथ प्रेम किया था, जबकि कृष्ण तो ‘लेजेण्ड्री ईव टीजर’ थे। क्या आदित्यनाथ में दम है कि वह अपने प्रहरी दलों को एंटी कृष्ण स्क्वायड कहें।’

इसके साथ ही उन्होंने विवाद उत्पन्न होने पर एक और ट्वीट करके स्थिति को संभालने का प्रयास किया। अपने नये ट्वीट में उन्होंने कहा कि उनकी टिप्पणी को तोड़ मरोडकर पेश किया जा रहा है और धार्मिक भावनाएं आहत करने का उनका कोई इरादा नहीं था। वहीं, योगेंद्र यादव ने प्रशांत भूषण का जोरदार बचाव करते हुए क्या कि बीजपी और आरएसएस के लोग जो भावना आहत होने की बात करते हैं जिन्हें भारतीय संस्कृति की समझ नही है और न भारतीय साहित्य इन्होंने पढ़ा है।

बीजेपी-आरएसएस को समझ नही आता कि 33 करोड़ देवी देवता में कृष्ण को पूर्ण अवतार क्यों कहा गया है या महाभारत या रासलीला वाले कृष्ण एक क्यों हैं। बीजेपी-आरएसएस वाले अपने आप को हिन्दू धर्म का ठेकेदार बताने की कोशिश करते हैं लेकिन इन्हें हिन्दू धर्म का बेसिक नही पता है। इन सब के बाद सुदर्शन न्यूज ने प्रशांत भूषण को उनके दिमाग का इलाज कराने की भी बात कही थी, क्योंकि प्रशांत भूषण ऐसे हिंदू हैं जिन्होंने हिंदुओं की भावनाओं का आहत किया है।

Share This Post