पढ़ते पंजाब में थे, गतिविधियाँ कश्मीर में थी, दिल पाकिस्तानी था और जुबान पर था एक ही नारा “गजवा ए हिन्द”

हिंदुस्तान की सरकार से तमाम सुविधाएं लेकर वह पंजाब में पढ़ाई कर रहे थे लेकिन उनकी गतिबिधियाँ कश्मीर में संचालित हो रही थी. कहने को उनकी नागरिकता तो हिन्दुस्तानी थी लेकिन उनका दिल पाकिस्तानी था तथा उनका लक्ष्य था “गजवा ए हिन्द” अर्थात हिंदुस्तान को इस्लामिक राष्ट्र बनाना. हम बात कर रहे हैं उन तीन कश्मीरी छात्र रूपी आतंकियों की जिन्हें पंजाब के जालन्धर से गिरफ्तार किया गया है.  पंजाब पुलिस और जम्मू कश्मीर पुलिस के विशेष अभियान समूह ने एक संयुक्त अभियान में बुधवार को तीन छात्रों को गिरफ्तार कर जालंधर में कश्मीरी आतंकी संगठन अंसार गज़वात-उल-हिंद के मॉड्यूल का भंडाफोड़ किया है.

पंजाब के पुलिस महानिदेशक सुरेश अरोड़ा ने यहां एक बयान में बताया कि जालंधर के बाहरी हिस्से शाहपुर में स्थित सीटी इंस्टीट्यूट ऑफ इंजीनियरिंग मैंनेजमेंट एंड टेक्नोलॉजी के छात्रवास से छात्रों को पकड़ा गया है. संयुक्त टीम ने बुधवार तड़के छात्रावास पर छापा मारा था. कमिश्नर ऑफ पुलिस जालंधर ने बताया कि पंजाब पुलिस और जेके पुलिस ने तीन स्टूडेंट्स को गिरफ्तार किया है. उन्होंने बताया कि पुलिस ने एक AK-47, एक पिस्तौल, विस्फोटक और गोला बारूद बरामद किया है. उन्होंने बताया की स्टूडेंट्स यहां तीन चार साल से पढ़ रहे थे. गुलजार जम्मू कश्मीर में श्रीनगर के अवंतीपुरा के राजपुरा का रहने वाला है. गुलजार को मोहम्मद इदरिस शाह उर्फ नदीम और युसूफ रफीक भट के साथ गिरफ्तार किया गया है. शाह पुलवामा का रहने वाला है जबकि रफीक पुलवामा के नूरपुरा का निवासी है.

डीजीपी ने कहा कि यह गिरफ्तारियां विभिन्न जानकारियों के आधार की गई हैं. इस तरह की सूचनाएं थीं कि कुछ आतंकी संगठनों या व्यक्तियों की जम्मू कश्मीर और पंजाब में मौजूदगी है और वे गतिविधियां कर रहे हैं. इस संबंध में जालंधर के सदर थाने में मामला दर्ज किया गया है. डीजीपी अरोड़ा ने कहा कि मामले की जांच की जा रही है और पंजाब पुलिस, जम्मू कश्मीर पुलिस के साथ करीब से काम कर रही है ताकि पंजाब और जम्मू कश्मीर में इन संगठनों/व्यक्तियों की साजिश और नेटवर्क का भाड़ाफोड़ किया जा सके.

Share This Post

Leave a Reply