यात्रियों को रेलवे का नायाब तोहफा.. लॉन्च किया ‘रेल दृष्टि डैशबोर्ड’ जिससे लाइव ट्रैक कर सकेंगे ट्रेन की लोकेशन और खाने की क्वालिटी

अपने यात्रियों को बेहतर से बेहतर सुविधाएं देने के लिए प्रयासरत भारतीय रेलवे एक के बाद एक नई योजनाओं को, नई टेक्नोलॉजी को लॉन्च कर रहा है. भारतीय रेलवे हरसंभव कोशिश कर रहा है कि यात्रियों की समस्याओं को कम किया जाए तथा उन्हें अधिक से अधिक सुविधाएं प्रदान की जाएँ. इसी क्रम में आज भारतीय रेलवे ने अपने यात्रियों को नायाब तोहफा दिया है. आपको बता दें कि आज रेल मंत्री पीयूध गोयल ने राजधानी दिल्ली में “रेल दृष्टि डैशबोर्ड” को लॉन्च किया. इसके द्वारा यात्री  ट्रेन की लोकेशन को लाइव ट्रैक कर सकेंगे, साथ ही खाने की क्वालिटी के बारे में भी जान सकेंगे.

“रेल दृष्टि डैशबोर्ड” को लॉन्च करते हुए रेलमंत्री पीयूष गोयल ने कहा कि रेलवे में देश भर में बहुत सारे काम चल रहे हैं, इन सभी कार्यों के ऊपर भारत की जनता की दृष्टि रहे, उसके लिये एक प्लेटफॉर्म ‘रेल दृष्टि’ हम लांच कर रहे हैं. पीयूष गोयल ने कहा कि डिजिटाइजेशन और अन्य माध्यमों से जो जानकारियां इकट्ठा होती हैं, उसका लाभ तभी है जब उस डेटा के ऊपर अनालिसिस हो सके, और उसके आधार पर हम आगे की व्यवस्था बना सके. “रेल दृष्टि डैशबोर्ड” को कंप्यूटर, मोबाइल और लैपटॉप किसी भी चीज से और कहीं से भी एक्सेस किया जा सकता है. इसकी मदद भारतीय रेल के कई विभागों के कार्यों की स्थिति की रियल टाइम बेसिस पर जानकारी मिल सकेगी. इसके अलावा यात्रियों की शिकायतों और उसके निवारण की जानकारी भी मिल पाएगी.

इसके जरिए ट्रेन में मिलने वाले हर खाने के पैकेट पर बार कोर्ड और फोन नंबर लिखा होगा. उस बार कोड के जरिये आप लाइव देख सकते हैं कि खाना किस तरह के किचन में तैयार किया गया है और वहां कितनी साफ सफाई है, उसका लाईव सीसीटीवी फुटेज देखा जा सकेगा. अगर आप उस किचन से संतुष्ट नहीं हैं तो raildrishti.org.in पर शिकायत कर सकते हैं. मालढुलाई से रेलवे की आमदनी कितनी हुई है इस बात की जानकारी सकेगी. इसी के साथ ही रेलवे यात्रियों को आरक्षित और अनारक्षित टिकटों की स्थिति की भी जानकारी मिल पायेगी.

पीयूष गोयल ने रेल भवन में एक संवाददाता सम्मेलन में कहा कि हम जनता की जरूरतों और आकांक्षाओं के प्रति जवाबदेह हैं. यह मंच हमें एक डिजिटल रेलवे के सपने के करीब लाता है जो सार्वजनिक क्षेत्र में सभी सूचनाओं को लाकर पारदर्शिता को प्रोत्साहित करता है. इसके अलावा इस डैशबोर्ड में बिकी हुई टिकटों की संख्या, प्रतिदिन, प्रति सप्ताह, प्रतिमाह और प्रतिवर्ष अर्जित की गई आय की जानकारी भी प्रदर्शित होगी. यह रेलवे की उपलब्धियों और मालगाड़ियों से जुड़ी जानकारी को प्रदर्शित करेगा. रेलमंत्री ने कहा कि लोगों की शिकायतों का ध्यान रखा जाएगा और लोग डैशबोर्ड पर रेलवे के 41 घटनाक्रमों को करीब से देख सकते हैं. उन्होंने कहा कि राजग सरकार ने देश के लोगों की सेवा की है और प्रत्येक वर्ष अपना रिपोर्ट कार्ड पेश किया है. यह अब जनता के बीच है. यह उनके जनादेश को देखने का समय है तथा उन्हें जनता पर भरोसा है कि उनकी सरकार को पुनः जनादेश दिया जायेगा.

Share This Post