सुकमा के बलिदानी जवानों को राजनाथ ने दी श्रद्धांजलि, कहा- व्यर्थ नहीं जाएगा बलिदान, स्वीकार की चुनौती

रायपुर : छत्तीसगढ़ के सुकमा जिले में सोमवार को नक्सलियों ने सीआरपीएफ के जवानों पर घात लगाकर हमला किया। घात लगाकर किए गए इस हमले में सीआरपीएफ के 26 जवानों को शहादत का जाम पीना पड़ा और आखिरी दम तक उन्होंने लड़ाई लड़ी। 7 जवान अभी भी जिंदगी और मौत के बीच जंग लड़ रहे है।

इस घटना के बाद पूरे देश में शोक की लहर है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने भी इस घटना पर दुख जताते हुए कहा कि इन जवानों की शहादत बेकार नहीं जाएगी। सीआरपीएफ के जवानों की बहादुरी पर मुझे फर्क है, उनका बलिदान व्यर्थ नहीं जाएगा। शहीद जवानों के परिवारों के लिए मैं संवेदना जाहिर करता हूं। वहीं, गृहमंत्री राजनाथ सिंह रायपुर पहुंचे और बलिदानी जवानों की श्रद्धांजलि दी।

राजनाथ ने नक्सलियों को चेतावनी देते हुए कहा कि हम अपने जवानों को बलिदान व्यर्थ नहीं जानें देंगे, इसे हमनें चुनौती के रूप में स्वीकार किया है, यह एक सोची समझी हत्या है। उन्होंने कहा कि सुकमा में जो हमला किया गया वो बेहद कायरतापूर्ण है, आदिवासियों को अपनी ढाल बनाकर विकास के खिलाफ जो अभियान छेड़ा जा रहा है इसमें नक्सली कामयाब नहीं होंगे, केंद्र और राज्य साथ मिलकर इसपर कार्रवाई करेंगे।

राजनाथ ने कहा कि पिछले काफी समय से राज्य और केंद्र से मिलकर नक्सलियों के खिलाफ अभियान चलाया है, जिससे नक्सलियों के हौसले पस्त हैं। आपको बता दें कि नक्सलियों के गढ़ सुकमा में 26 सीआरपीएफ जवानों की शहादत के पीछे कुख्यात नक्सली नेता हिड़मा का हाथ बताया जा रहा है। हिड़मा ने तीन सौ के करीब नक्सलियों के साथ मिलकर इस हमले को अंजाम दिया।

सीआरपीएफ पोजीशन लेकर बैठी थी कि तभी अचानक फायर किया गया। सूत्रों के मुताबिक, नक्सली संगठन, पीपुल्स लिबरेशन ऑफ गुरिल्ला आर्मी ने इस हमले को अंजाम दिया है। जानकारी के मुताबिक, हमले के दौरान नक्सलियों के पास AK-47 जैसे हथियार थे। खबर यह भी है कि इन नक्सलियों के साथ महिला फाइटर भी थीं। बताया जा रहा है कि नक्सलियों ने जवानों को निशाना बनाने के लिए IED ब्लास्ट भी किया।

सुदर्शन न्यूज को आर्थिक सहयोग करने के लिए नीचे DONATE NOW पर क्लिक करे
DONATE NOW