नेता का वो रिश्तेदार जिसने एक रात में मस्ती के लिए खर्च किये थे लगभग 8 करोड़ रूपये.. जबकि नेताजी लगा रहे थे मंदी का आरोप


वो नेताजी लंबे समय से भारतीय अर्थव्यवस्था पर सवाल खड़ते रहे हैं, देश में आर्थिक मंदी का आरोप लगा अपनी राजनैतिक रोटियां सेंकने का प्रयास करते रहे हैं. लेकिन उन्हीं नेता जी के एक रिश्तेदार ने अमेरिका में एक ही रात में लगभग 8 करोड़ रूपये खर्च कर डाले थे. हम बात कर रहे हैं मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री कमलनाथ के भांजे रतुल पुरी की. मुख्यमंत्री कमलनाथ के भांजे रतुल पुरी के राजसी ठाठबाट का अंदाजा मनी लॉन्ड्रिंग केस में उनके खिलाफ ईडी की तरफ से दाखिल की गई चार्जशीट से लगाया जा सकता है.

सीएम कमलनाथ के भांजे रतुल पुरी के खिलाफ दायर ईडी की चार्जशीट में बताया गया है कि पुरी ने अमेरिका के एक नाइटक्लब में एक ही रात में 11 लाख डॉलर यानी 7.8 करोड़ रुपये फूंक दिए थे. चार्जशीट में उनके अलावा उनके सहयोगियों और मोजर बेयर इंडिया (प्राइवेट) लिमिटेड का भी नाम है. ईडी ने अपनी चार्जशीट में कहा है, ‘लेनदेन का सत्यापन (वेरिफिकेशन) किया गया और यह पता चला कि भारत और विदेश में तमाम महंगे होटलों में ठहरने के लिए ट्रांजैक्शन हुआ. प्रोवोकेटर नाम के एक नाइट क्लब में एक ही रात में 11 लाख 43 हजार 980 डॉलर (करीब 7.8 करोड़ रुपये) खर्च किए गए.’

ईडी ने यह भी दावा किया है कि नवंबर 2011 और अक्टूबर 2016 के बीच पुरी ने खुद के ठाटबाट के लिए 45 लाख डॉलर (करीब 32 करोड़ रुपये) खर्च किए. चार्जशीट में आकलन किया गया है कि पुरी ने करीब 8 हजार करोड़ रुपये की मनी लॉन्ड्रिंग की है जो शुरुआती आकलन से काफी ज्यादा है. ईडी ने यह भी दावा किया है कि मोजर बेयर इंडिया प्राइवेट लिमिटेड ने बैंकों से मिले कर्ज को अपनी सब्सिडियरी कंपनियों को ट्रांसफर किए. एजेंसी के मुताबिक मनी लॉन्ड्रिंग के लिए फर्जी कंपनियां बनाई गईं. चार्जशीट में करीब एक दर्जन सब्सिडियरीज के नामों का भी जिक्र है जिनमें कर्ज के पैसे ट्रांसफर किए गए.

बता दें कि रतुल पुरी 3,600 करोड़ रुपये के अगुस्ता वेस्टलैंड हेलिकॉप्टर घोटाले में भी आरोपी हैं. उन्हें मनी लॉन्ड्रिंग के मामले में 20 अगस्त को गिरफ्तार किया गया था, तब से वह जेल में हैं. दिल्ली की अदालत में गुरुवार को फाइल की गई ईडी की 110 पेज की चार्जशीट में कहा गया है, ‘बीते कुछ सालों में मोजर बेयर इंडिया प्राइवेट लिमिटेड ने अपनी सब्सिडियरी और असोसिएट कंपनियों में 8 हजार करोड़ रुपये का निवेश किया.’ मोजर बेयर और उसके डायरेक्टरों एवं प्रमोटरों पर आरोप है कि उन्होंने बैंकों और अन्य बैंकिंग संस्थानों से कंपनी को बिजनस के उद्देश्य से मिले कर्ज का निजी इस्तेमाल में दुरुपयोग किया. पुरी पर आरोप है कि उन्होंने अपने नियंत्रण वाली कंपनियों के जरिए पैसों को इधर से उधर किया.


सुदर्शन के राष्ट्रवादी पत्रकारिता को आर्थिक सहयोग करे और राष्ट्र-धर्म रक्षा में अपना कर्त्तव्य निभाए
DONATE NOW

Share
Loading...

Loading...