सेकुलर महिला को पहले मुसलमान बनाया, फिर ह्त्या की.. अब दफनाने जा रहा था लाश, पर हुआ कुछ और

वो सेकुलर विचारधारा को मानती थी तथा उसके लिए लव जिहाद जैसे शब्द सिर्फ एक प्रोपगेंडा था. फिर फेसबुक के माध्यम से उसकी दोस्ती दिल्ली में रहकर बढ़ई का काम करने वाले इंतजार नामक युवक से हुई. इंतजार ने उसे झांसे में लेकर प्रेम संबंध बनाकर उससे शादी कर उसका धर्म परिवर्तन करा लिया. फिर आरोपी ने महिला की गला घोंटकर हत्या कर दी और उसके शव को दफनाने के लिए बिजनौर ले आया. सूचना पर पहुंची पुलिस ने शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया और आरोपी को हिरासत में ले लिया है.

खबर के मुताबिक़, बिजनौर के मोहल्ला बी 13 खत्रियान निवासी इंतजार दिल्ली में कार पेंटर का काम करता है. दिल्ली के ब्रह्मपुरी निवासी संजय मिश्रा की 33 साल की पत्नी निधि शर्मा से उसकी फेसबुक पर दोस्ती हो गई जो प्यार में बदल गई. 17 जुलाई 2018 को इंतजार निधि को चोरी छिपे भगा लाया. निधि का नाम बदलकर इकरा रख दिया और उससे निकाह कर लिया. निधि अपने सात और पांच साल के दो बेटों को छोड़कर इंतजार के साथ भाग आई थी. 19 जुलाई को निधि के पति संजय ने दिल्ली के न्यू उस्मानपुर थाने में उसकी गुमशुदगी की तहरीर दी. निधि उर्फ इकरा से निकाह करने के बाद इंतजार दिल्ली के जाफराबाद क्षेत्र में किराये का मकान लेकर रह रहा था. उसकी पहली पत्नी अफरोज बिजनौर के मकान पर रहती थी. अफरोज को इंतजार की हरकतों के बारे में पहले से मालूम था.
बुधवार को इंतजार निधि उर्फ इकरा का कार में शव लेकर बिजनौर अपने घर पहुंचा. इकरा के शव को वह दफनाने की तैयारी कर रहा था कि किसी ने इसकी सूचना शहर कोतवाली पुलिस को दे दी. पुलिस ने मौके पर पहुंचकर शव अपने कब्जे में ले लिया. इंतजार को पुलिस ने हिरासत में ले लिया। दिल्ली के न्यू उस्मानपुर थाना पुलिस को इस घटना की सूचना दे दी. पुलिस के मुताबिक इकरा की गला घोंटकर हत्या की गई है. इंतजार उसके शव को गुपचुप तरीके से दफनाने के इरादे से बिजनौर लाया था ताकि किसी को कुछ पता न चले.
पुलिस के मुताबिक इंतजार द्वारा इकरा का शव दफनाने के बारे में किसी को कुछ नहीं मालूम था. इंतजार जब शव लेकर बिजनौर पहुंचा तो उसकी पहली पत्नी अफरोज के पिता निसार अहमद ने पुलिस को इस घटना की सूचना दे दी और इंतजार पुलिस के फंदे में फंस गया. निसार पुलिस को सूचना न देता तो इंतजार निधि के शव को गुपचुप से दफनाने की पूरी तैयारी कर ली थी. लेकिन वह इसमें सफल नहीं हो पाया.
राष्ट्रवादी पत्रकारिता को समर्थन देने हेतु हमे आर्थिक सहयोग करे. DONATE NOW पर क्लिक करे
DONATE NOW