हिन्दुस्थान में हिस्सेदारी की बात न करो ओवैसी , वो हिस्सा 1947 में ही दिया जा चुका है – भाजपा नेता

भारत में हिस्सेदारी की बात कह कर एक वर्ग को भड़काने की कोशिश करने वाले जहरीले बयानों के केंद्र बन चुके ओवैसी को अब उसी अंदाज़ में मिला है जवाब . खुद को मुसलमानों का मसीहा घोषित करने के चक्कर में इतिहास को भूल जाने वाले ओवैसी को अब मिलने लगा है उन्ही की ही भाषा में जवाब . इस बार ओवैसी को जवाब दिया है भारतीय जनता पार्टी के महाराष्ट्र के एक कद्दावर नेता ने जिसके बाद कई वामपंथी विचारधारा वालों को विरोध में आना तय माना जा रहा .

विदित हो कि ये बयान दिया है महाराष्ट्र से भारतीय जनता पार्टी के कद्दावर नेता माधव भंडारी ने. भाजपा नेता ने माधव भंडारी ने ओवैसी को बोलने से पहले सोचने की सलाह देते हुए कहा है कि बेहतर होगा कि अपना हिस्सा मांग रहे ओवैसी को इतिहास पर गौर करना चाहिए .. उन्होंने कहा कि अगर इस प्रकार से हिस्सेदारी की बात होगी तो ये जानना जरूरी होगा कि इस प्रकार से हिन्दुस्थान में हिस्सेदारी मांगने वालों को 1947 में उतना मिल चुका है जितने के वो पात्र भी नहीं थे..

केंद्र में दूसरी बार प्रचंड बहुमत से मोदी सरकार आने के बाद असदुद्दीन ओवैसी प्रतिक्रिया दे रहे हैं. इस कड़ी में उन्होंने कहा है कि अगर कोई ये समझ रहा है कि हिंदुस्तान के पीएम 300 सीट जीत कर देश पर मनमानी करेंगे तो ऐसा नहीं हो सकता और वो भी इस भारत में हिस्सेदारी रखते हैं . भारतीय जनता पार्टी के नेता माधव भंडारी का ओवैसी पर दिए इस बयान का सोशल मीडिया में भारी समर्थन हो रहा है और ओवैसी जैसे जहरीले बयानबाज के खिलाफ ऐसे ही उत्तर देने की बात कई लोग कहते दिखाई दिए . भंडारी ने ओवैसी को संबोधित करते हुए कहा, ‘उनको किसी ने किराएदार नहीं कहा, लेकिन हिस्सेदारी की भाषा बोलेंगे तो हिस्सेदारी 1947 में दे दी तो मामला खत्म हो गया.’


राष्ट्रवादी पत्रकारिता को समर्थन देने हेतु हमे आर्थिक सहयोग करे. DONATE NOW पर क्लिक करे
DONATE NOW

Share