जिस लड़की को मिला कुरान बांटने का फरमान, अब उसने भी किया एक एलान.. वो एलान जो गूंज गया भारत भर में

झारखंड के रांची की रांची की रहने वाली छात्रा रिचा भारती हिंदुत्व की यूथ आइकॉन बन गई है तथा देशभर से लोग रिचा भारती के समर्थन में सामने आ रहे हैं. लगभग हर हिन्दू राष्ट्रवादी संगठन तथा कार्यकर्ता रिचा भारती का समर्थन कर रहे हैं तथा उसका साथ देने की बात कर रहे हैं. वही ऋचा भारती जिसके एक फेसबुक पोस्ट को विवादित मानते हुए गिरफ्तार किया गया तथा उसे रांची कोर्ट के जज ने इस शर्त पर जमानत दी थी कि उसे कुरान की 5 किताबें बांटनी पड़ेंगी.

रांची कोर्ट के कुरआन बांटने के आदेश के बाद ऋचा भारती ने बड़ा बयान दिया है. ऋचा भारती ने साफ़ कह दिया है कि वह किसी भी हालात में कुरान नहीं बांटेगी. रिचा भारती ने कहा है कि कि आज कुरान बंटवा रहे, कल को नमाज पढ़वायेंगे और फिर इस्लाम स्वीकारने को बोलेंगे. ऋचा ने कहा क्या कभी हिन्दू धर्म के खिलाफ लिखने वाले से कभी सजा के तौर पर रामायण, दुर्गा चालीसा या हनुमान पाठ करने का आदेश सुनाया गया.

ऋचा भारती ने कहा कि काफी मुस्लिम बहुत गलत-गलत पोस्ट करते है उनपर तो कार्यवाई नहीं होती. झारखंड में तबरेज अंसारी की कथित मॉब लिंचिंग की मौत मामले में टिक-टोक कुछ मुस्लिम युवकों द्वारा बदला लेने का वीडियो बनाया गया था. जिसमें उन्होंने कहा था कि उनके बच्चे अगर बदला लें तो उन्हें आतंकवादी मत कहना. जिस पर मैंने लिखा था कि बदला लेने और आतंकवादी बनने का ख्याल सिर्फ मुसलमानों को ही क्यों आता है? कश्मीरी पंडितो को कश्मीर से निकाला गया उन्हें प्रताड़ित किया गया उनके मन में आतंकवादी बनने का ख्याल क्यों नहीं आता? मुसलमान ही आतंकवादी क्यों बनते हैं.

कुरान बांटने के कोर्ट के आदेश पर ऋचा ने कहा, “मैं कुरान नहीं बाटूंगी कल को कहेंगे कि इस्लाम स्वीकार कर लो, नमाज पढ़ो. सनातन धर्म को गलत बोलने वाले कभी किसी मुस्लिम से कहा कि रामायण पढ़ो, दुर्गा चालीसा पढ़ो, हनुमान का पाठ पढ़ लो. उन्होंने कहा कि मुस्लिम लोग अल्पसंख्यक के नाम पर फायदा उठाते हैं. बता दें कि छात्रा ऋचा पटेल उर्फ़ ऋचा भारती पर आरोप लगाया गया था कि उन्होंने फेसबुक और व्हाट्सएप के जरिये मुस्लिम धर्म के खिलाफ आपत्तिजनक टिप्पणी की थी. इसकी प्रतिक्रिया में अंजुमन कमेटी पिठोरिया ने उसकी पोस्ट के खिलाफ थाने में एफआईआर दर्ज कराई थी. जिस पर मुक़दमा दर्ज कर ऋचा को गिरफ्तार किया गया था.

इसके बाद ऋचा पटेल उर्फ ऋचा भारती को जेएम मनीष कुमार की अदालत से सोमवार को जमानत मिल गयी. ऋचा को सात-सात हजार रुपये के दो निजी मुचलके भरने का निर्देश कोर्ट की ओर से दिया गया. इसके अलावा उसे कुरान (Quran) की पांच प्रतियां दान करने का भी निर्देश जज ने दिया. पांच में से एक प्रति शिकायतकर्ता और बाकी चार प्रति स्कूल-कॉलेज या विश्वविद्यालय में दान करने को कहा गया है. ऋचा को अगले 15 दिन के अंदर पांचों की रशीद कोर्ट में जमा करनी होगी. यह काम उसे 15 दिनों के अंदर करना होगा लेकिन ऋचा भारती ने ऐसा करने से साफ़ इंकार कर दिया है.

Share This Post