रोहिंग्या मु्स्लिमों का एक बार फिर बौद्धों पर हमला… बौद्धों के सैकड़ों घर स्वाहा, कईयों की मौत


एक ओर रोहिंग्या मुसलमान हिन्दुओं और बौद्धों के लगातार कत्लेआम हो रहे है। म्यांमार के रखाइन में आतंक फैला रहे हैं और दूसरी तरफ लोगों की निर्मम हत्या के भाद भीख मांग रहे कि उन्हें कोई रहने के लिए आसरा दे दे। आखिर क्यों? किसी के पति, किसी के बेटे, किसी की माँ, किसी की बेटी की हत्या कर कैसे कोई खुद के लिए रहम की भीख मांग सकता है। इन रोहिंग्या आतंकियों ने अपना आतंकी चेहरा सबके सामने लाकर रख दिया है। रोहिंग्या मुसलमानों का आतंक अब इतना बढ़ गया है कि इन लोगों ने दोबारा से आगजनी शुरू कर दी है।

रोहिंग्या मुसलमानों ने हिंदुओं और बोद्धों पर दोबारा से हमला किया और कई घरों को भी जला दिया और साथ ही कई हिंदुओं और बौद्धों को मौत के घात उतार दिया। राष्ट्र सुरक्षा के लिए खतरा बने रहिंग्या का चेहरा सबके सामने आ ही गया है लेकिन बावजूद उसके कुछ मज़हबी लोग उनके लिए प्रदर्शन करते है। जिन्होंने आज तक देश के बलिदानियों के लिए एक आँसू तक नहीं बहाया वो बिलक-बिलक के रो रहे है इन रोहिंग्या आतंकियों के लिए। जिससे रोहिंग्या आतंकियों को शह मिल रही है और आतंक फ़ैलाने के लिए। बता दें कि रोहिंग्या आतंकियों ने म्यांमार के रखाइन में फिर से आगजनी शुरू कर दी है।

इन आतंकियों ने कई घरों को फूंक दिया और कईयों को मौत के घाट उतार दिया। म्यांमार सेना के कार्यालय ने बृहस्पतिवार को इसकी बाबत जानकारी देते हुए कहा कि सेना को ताजा हिंसा से निपटना पड़ रहा है। सेना का दावा है कि आतंकियों की मंशा है कि घर फूंकने का आरोप सेना पर लगे, इसलिए यह हरकत की गई है। सेना कार्यालय के प्रमुख मिन अंग लाइंग ने कहा कि बुधवार को फिर से सांप्रदायिक हिंसा भड़क गई। रखाइन में सात घरों को आग के हवाले कर दिया गया। यह काम इनु या अराकन रोहिंग्या सालवेशन आर्मी (एआरएसए) के आतंकियों ने किया है।

उन्होंने कहा कि सेना वहां स्थिति नियंत्रित करने में लगी हुई है। ठीक म्यांमार की तरह भारत में भी रोहिंग्या मुस्लिम सरकार को बदनाम करने में तुली हुई है। इस बात से कोई अनजान नहीं है कि रोहिंग्या भारत के लिए कितना बड़ा खतरा साबित हो सकते है और अब जब रोहिंग्या का असली चेहरा सबके सामने आ रहा है तो रोहिंग्या आतंकियों ने नया हथकंडा अपनाते हुए सरकार और सेना को बदनाम करने के लिए घर तक जला रही है। इन आतंकियों को बढ़ावा दिया जा रहा है उन लोगो के कारण जो मज़हब के नाम पर आतंकियों का समर्थन कर रहे है।  


सुदर्शन के राष्ट्रवादी पत्रकारिता को आर्थिक सहयोग करे और राष्ट्र-धर्म रक्षा में अपना कर्त्तव्य निभाए
DONATE NOW

Share