रोहिंग्या मुसलमानों पर सख्त मोदी सरकार, ले सकती है ये कड़ा एक्शन


नई दिल्ली : केंद्र की नरेंद्र मोदी सरकार रोहिंग्या मुस्लिमों को लेकर जल्द ही एक बड़ा फैसला ले सकती है। पिछले कई सालों से भारत में आकर बसे रोंहिग्या मुस्लिमो को केंद्र सरकार अब गिरफ्तार कर वापिस म्यामांर भेजने का निर्णय ले सकती है। इससे भारत में बसे लगभग 40 हजार रोहिंग्या मुस्लिमों को भारत छोड़ना पड़ेगा।

सूत्रों के मुताबिक, गृह मंत्रालय फॉरनर्स एक्ट के तहत इन लोगों को वापिस म्यायांर भेजेगी। ये लोग भारत में समुद्र, बांग्लादेश और म्यायांर की सीमा से घुसपैठ कर भारत में घुसे थे। बताया जा रहा है कि इस मुद्दे को लेकर सोमवार को गृह मंत्रालय में केंद्रीय गृह सचिव राजीव महर्षि की अध्यक्षता में बैठक हुई है, जिसमें इनकी पहचान, गिरफ्तारी और देश से बाहर भेजने की रणनीति पर बातचीत की गई है।

इस बैठक में जम्मू-कश्मीर के डीजीपी, चीफ सेकेट्ररी ने भी हिस्सा लिया। भारत में सबसे ज्यादा रोंहिग्या मुस्लिम जम्मू में बसे हैं, यहां करीब 10 हजार रोंहिग्या मुस्लिम रहते हैं। हालांकि, संयुक्त राष्ट्र मानवाधिकार संगठन के आंकड़ों के मुताबिक, फिलहाल देश में 14 हजार रोहिंग्या मुस्लिम शरणार्थी रहते हैं। जानकारी के मुताबिक, म्यांमार सरकार ने 1982 में राष्ट्रीयता कानून बनाया था जिसमें रोहिंग्या मुसलमानों का नागरिक दर्जा खत्म कर दिया गया था।


सुदर्शन के राष्ट्रवादी पत्रकारिता को आर्थिक सहयोग करे और राष्ट्र-धर्म रक्षा में अपना कर्त्तव्य निभाए
DONATE NOW

Share