मासूम प्रद्युम्न की निर्मम हत्या से डरे सहमे अभिभावकों ने अपने बच्चों को किया सावधान कहा – ‘स्कूल में अकेले मत घूमना’

गुरुग्राम में मासूम प्रद्युम्न की हत्या होने के पूरे 9 दिन बाद आज रेयान इंटरनेशनल स्कूल खुला। स्कूल खुलते ही बच्चे वक्त पर पहुंचे लेकिन इस घटना के बाद बच्चों और उनके माता-पिता में अजीब सा डर समा गया है। बच्चों की पढ़ाई का नुकसान ना हो इसके चलते माता-पिता अपने बच्चों को स्कूल लेकर पहुंचे लेकिन उनके चेहरों पर डर साफ नजर आ रहा था।

अभिभावकों का कहना है कि हमारे बच्चे जब तक स्कूल से घर नहीं आ जाएंगे हमें डर रहेगा। एक अन्य ने कहा कि स्कूल के स्टाफ का बैकग्राउंड चैक होना चाहिए और साथ ही स्कूल में पढ़े-लिखे लोगों को नौकरी दी जानी चाहिए। वहीं, कुछ ऐसे अभिभावक भी थे जो अब अपने बच्चों को रेयान स्कूल में पढ़ाना ही नहीं चाहते हैं।
मामले में प्रद्युम्न के पिता बोले कि जब तक केस सीबीआई को हैंडओवर नहीं हो जाता है, तब तक प्रशासन स्कूल को कैसे खुलने दे सकता है। उन्होंने कहा कि हम अपनी बेटी को उस स्कूल में नहीं भेजेंगे, स्कूल में भेजने से डर लगता है। साथ ही कहा कि हमें लगता है कि इस घटना में स्कूल के ही कुछ लोग शामिल हैं, अगर स्कूल दोबारा खुलता है तो लोगों को सबूतों से छेड़छाड़ करने का मौका मिल जाएगा।
बता दें कि सुरक्षा में खामियों की वजह से हरियाणा सरकार ने रायन स्कूल को तीन महीने के लिए टेकओवर किया है। हरियाणा सरकार ने मामले की जांच सीबीआई को भी सौंपी है। लेकिन मंत्रालय से नोटिफिकेशन के जारी होने के बाद ही सीबीआई अपनी जांच शुरू करेगी। इसीलिए प्रद्युम्न परिवार चाहता है कि जांच शुरू होने तक स्कूल बंद रहे। प्रद्युम्न की हत्या के आरोपी कंडक्टर अशोक की आज न्यायिक हिरासत खत्म हो रही है। उसे पुलिस सोहना कोर्ट में पेश करेगी।
Share This Post

Leave a Reply