ये भारत है, इसकी सीमा में रहने वाला एक एक व्यक्ति हिंदु – संघ प्रमुख श्री भागवत जी

देश के सबसे ताकतवर हस्ती हैं प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी। लोकसभा चुनाव में जीत के बाद से ही राजनीतिक के आसमान पर सबसे चमकदार चेहरा बन कर चमक रहे हैं नरेंद्र मोदी। लेकिन क्या आप जानते हैं कि राजनीति की दुनिया से अलग देश में दूसरा सबसे ताकतवर शख्स कौन हैं? दरअसल मोहन भागवत वो शख्स भी है जिन्होंने नरेंद्र मोदी को प्रधानमंत्री बनाने में सबसे अहम रोल निभाया है। और जो देश के सबसे बड़े संगठन, राष्ट्रीय स्वंय सेवक संघ को चलाते हैं।

आपको बता दे कि राष्ट्रीय स्वयं सेवक संघ प्रमुख मोहन भागवत ने कहा है भारत में रहने वाला हर कोई हिंदू है और हिंदुत्व का मतलब सभी समुदायों को जोड़ना है। त्रिपुरा की राजधानी अगरत्तला में स्वामी विवेकानंद मैदान में एक कार्यक्रम में भागवत ने कहा कि हिंदुत्व और हिंदूवाद में फर्क है। भारत में रहने वाले मुसलमान भी हिंदू हैं। शुक्रवार से पांच दिन के त्रिपुरा दौरे पर गए भागवत पूर्वोत्तर के इस राज्य में संघ के संगठन के कामकाज की समीक्षा करेंगे।
लोगों को संबोधित करते हुए भागवत ने कहा कि हमारी किसी से कोई दुश्मनी नहीं है।

हम सभी का कल्याण चाहते हैं। सभी को जोड़ने का सूत्र हिंदुत्व है। भारत को हिंदुओं की धरती बताते हुए संघ प्रमुख ने कहा कि दुनियाभर से प्रताड़ित हिंदू इस देश में आकर शरण लेते हैं। उन्होंने कहा कि हिंदू सत्य में विश्वास रखते हैं, और दुनिया शक्ति का सम्मान करती है। संगठन में शक्ति होती है। संगठित होना स्वाभाविक नियम है। देश के विभाजन का जिक्र करते हुए भागवत ने कहा कि हिंदुत्व की भावना कमजोर होने की वजह से 1947 में भारत विभाजित हो गया था।
वाम मोर्चा के शासन वाले त्रिपुरा में अगले साल की शुरूआत में विधानसभा चुनाव होने हैं और भाजपा पूर्वोत्तर में अपनी पैठ बढ़ाने के लिए गंभीर रूप से प्रयासरत है। असम, अरुणाचल प्रदेश और मणिपुर में भाजपा की सरकारें हैं।

Share This Post

Leave a Reply