Breaking News:

इस्लामिक आतंकी दल “जैश” के लिए काल बन चुकी ‘भारतीय सेना” का ये बयान साबित करता है कश्मीर में हुए बदलाव को

कश्मीर भारत का अभिन्न अंग है जिसका लिए भारत के कई वीर जवानो ही नहीं बल्कि कश्मीरी हिन्दुओ ने भी अपने प्राणों का बलिदान दिया है . कश्मीर में पिछले कुछ समय से आतंकियों ने जिस प्रकार से खून की होली खेली थी उसके पीछे कहीं न कहीं से कुछ लोगों के राजनीतिक स्वार्थ और तुष्टिकरण की नीति को भी दोषी ठहराया जाता रहा है .

दहल रही है दुनिया एक साथ इतनी लाशें दफन होती देख कर.. श्रीलंका में बड़ी कार्यवाही की तैयारी, जिसमे हटाया गया पुलिस प्रमुख और सुरक्षा प्रभारी

लेकिन लाख विरोधो के बाद भी भारत की फ़ौज ने पिछले कुछ समय में अपने अभियान में जिस प्रकार से तेजी लाई उसका सतह अपर असर अब साफ साफ़ देखने को मिल रहा है . लेकिन इसी अभियान के दौरान भारत की फौजों को न जाने कितनी कानूनी कार्यवाही झेलनी पड़ी , यहाँ तक कि दिल्ली के कुछ नेताओं ने सेनापति को गुंडा जैसे शब्द से सम्बोधित कर डाला था . जबकि सेना उस समय २ मोर्चो पर जूझती दिख रही थी जिसमे एक कश्मीरी आतंकी और दूसरे उनके समर्थक नेता थे .

2 मजहबो के जिस धर्मयुद्ध को बताया था सुरेश चव्हाणके जी ने बिंदास बोल में अब उसी पर लगी मुहर श्रीलंका के रक्षामंत्री द्वारा

फिर भी फ़ौज ने अपना संयम और धैर्य बनाये रखा और अपने निशाने पर लिया आतंकियों को ही .. ठीक उस प्रकार से जिस तरह कभी अर्जुन ने अपने लक्ष्य पर ही खुद को केन्द्रित रखा था . अब भारत की सेना के नए बयान से आतंकियों के अंदर फ़ौज की दहशत साफ देखी जा सकती है . बुधवार को भारतीय सेना के अधिकारी लेफ्टिनेंट जनरल KJS ढिल्लन ने कहा कि इस वर्ष 69 आतंकियों को जिस श्रृंखलाबद्ध ढंग से सेना ने मार गिराया है उसके बाद अब कोई भी आतंकी जैश एक मुहम्मद का सरगना बनने के लिए तैयार ही नहीं हो रहा है .  उन्होंने कहा कि आतंकियों के सफाए का अभियान आगे भी जारी रहेगा ..

साध्वी प्रज्ञा के टार्चर को सही बताते हुए चुनाव लडती 2 पार्टियों ने उड़ाया उनकी चीखों का मजाक

ध्यान देने योग्य है कि एक समय बुरहान जैसे आतंकियों को पोस्टर बॉय बना कर पेश किया जाता था और उस समय आतंकी बनना कई कट्टरपंथी एक शौक का काम समझा करते थे जिसमे उनको प्रसिद्धि मिला करती थी कुछ लोगों द्वारा , लेकिन अब वही प्रसिद्धि मौत के रूप में मिल रही है जिसके बाद अब जैश जैसे आतंकी समूह की कमान सम्भालने के लिए भी कोई आगे नहीं आ रहा है .

पवित्र देवभूमि प्रयागराज के दुर्दांत अपराधी अतीक अहमद को अदालत ने दिन में दिखाए तारे.. सभ्य समाज में हर्ष की लहर

राष्ट्रवादी पत्रकारिता को समर्थन देने व हमें मज़बूत करने के लिए आर्थिक सहयोग करें।

Paytm – 9540115511

Share This Post