जो लखनऊ में कर रहे थे बलात्कार के आरोपी विधायक का विरोध वही रामपुर में खड़े दिखे भ्रष्टाचारी भूमाफिया सांसद आजम के पक्ष में.. ऐसी है सपा ?

न्याय और नीति के दो रूपों को भले ही वो खुद से अपनी आँखों से देख नहीं पा रहे है लेकिन उसको जनता बड़े ध्यान से देख रही है और बाकायदा उसको समझ भी रही है .. लखनऊ में एक दूसरा रूप और वहीँ से मात्र कुछ किलोमीटर दूर उसी प्रदेश के एक अन्य जिले में दूसरा रूप .. ये बात समाजवादी पार्टी की हो रही है जिसका खेला हर दांव उसके लिए ही उल्टा पड़ रहा है चाहे वो कांग्रेस के साथ गठबंधन का दांव हो या फिर इस बार मायावती के साथ मिल कर सामूहिक टीम बनाना हो ..

कांवड़ में आये मुस्लिम लड़के इरशाद को घेर लिया उन्मादियों ने.. फिर जो हुआ उसे नहीं कहा जा सकता सेक्यूलरिज्म

एक और नया पैंतरा इस बार भी समाजवादी पार्टी ने अपनाया है और लखनऊ व रामपुर में अलग अलग रूपों में सामने आ रही है . उन्नाव से भारतीय जनता पार्टी विधायक कुलदीप सिंह सेंगर के खिलाफ लखनऊ में लगातार प्रदर्शन कर रही समाजवादी पार्टी ने अचानक ही भ्रष्टाचारी सांसद आजम खान के समर्थन में मोर्चा खोल दिया है.. गरीबो की जमीने हडपने वाले आजम खान के समर्थन में जिस प्रकार से कल समाजवादी पार्टी ने कानून तोडा उसके बाद उसकी मंशा पर सवाल उठने लगे हैं .

सड़कों के बजाय छतों पर नमाज शुरू.. असर दिख रहा कड़े क़ानून का

ध्यान देने योग्य है कि समाजवादी पार्टी ने कल रामपुर में भारी भीड़ जुटाने की कोशिश की लेकिन उसे आपेक्षित सफलता नहीं मिली .. खुद समाजवादी पार्टी के ही कई बड़े नाम उस प्रदर्शन में नदारद दिखे .. भ्रष्टाचर का पहाड़ बनाने वाले और गरीबो की जमीन हडपने वाले आजम खान के साथ जिस प्रकार से समाजवादी पार्टी के कुछ कार्यकर्ताओं ने समर्थन दिखाया वो देख कर हर कोई इतना सवाल जरूर कर रहा है कि लखनऊ में बलात्कारी के खिलाफ खड़ी पार्टी रामपुर में भ्रष्टाचारी के साथ कैसे दिख रही ?

राष्ट्रवादी पत्रकारिता को समर्थन देने के लिए हमें सहयोग करेंनीचे लिंक पर जाऐं

Share This Post