कुछ बड़े नेता गांधी की फोटो ट्विटर पर लगा के कर रहे थे नाथूराम गोडसे की निंदा, इधर अमेठी में रची जा रही थी हत्या की साजिश

राजनीति के 2 अलग अलग रूपों को अगर किसी को देखना हो तो इस समय वो एक भाजपा कार्यकर्ता के रक्त से रंजित हुई अमेठी को देख सकता है. एक ऐसी हत्या जो बन चुकी है राष्ट्रीय स्तर पर चर्चा का विषय और जिसमे खुद अमेठी की विजेता स्मृति ईरानी ने जा कर दिवंगत को कंधा दिया है.. अब तक मिल रही जानकारी के अनुसार ये कत्ल राजनैतिक रंजिश के चलते किया गया है और हमलावरों की तलाश जोर शोर से की जा रही है …

इस मामले में अब तक प्रदेश ही नहीं केंद्र के तमाम बड़े नेताओं के बयान आ चुके हैं .. उत्तर प्रदेश के उपमुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्या ने एलान किया है कि किसी भी हालत में किसी भी हत्यारे को छोड़ा नहीं जाएगा और उनको पाताल से भी निकाल कर सजा दी जायेगी . पुलिस की तमाम टीमें इस हत्या की गुत्थी सुलझा कर दोषियों को खोज निकालने में लगी हुई हैं और DGP उत्तर प्रदेश ने तो एक निर्धारित समय सीमा भी तय कर दी है अपराधियों को खोज निकालने के लिए .

यहाँ पर ये ध्यान रखने योग्य है कि अमेठी से स्मृति ईरानी ने राहुल गाँधी को बुरी तरह से हराते हुए कांग्रेस का वो किला ढहा दिया जो उन्होंने सोचा भी नहीं था .. ये वो समय था जब कांग्रेस पार्टी के बड़े बड़े नेताओं ने नाथूराम गोडसे के खिलाफ मोर्चा खोलते हुए अपने अपने ट्विटर हैंडलो पर गांधी की फोटो लगा रखी थी . अभी तक गांधी की फोटो लगी उन तमाम सोशल प्रोफाइलो में से कई से इस न्रिसंश हत्याकांड की निंदा नहीं की गई है जिस से उनके दोहरे चरित्र की एक झलक दिखती है . फिलहाल सुरेन्द्र सिंह के परिजनों और उनकी आत्मा को अभी भी न्याय का इंतजार है .. इलाके में भारी पुलिस बल तैनात कर दिया गया है .

 

Share This Post