पहले महबूबा मुफ़्ती के करीबी को गोलियों से भूना, और अब आतंकियों ने किया उमर अब्दुल्ला के करीबी के घर पर ग्रेनेड से हमला

सवाल ये है कि किस राह पर चल गया है कश्मीर . अब तक U टर्न सिर्फ भारत के कुछ गिने चुने राजनेताओं में ही देखने को मिल रहा था लेकिन अब अचानक यही U टर्न आतंकियों में भी देखने को मिलने लगा है.. ये वो आतंकी थे जो भारत की सेना और कश्मीर के हिन्दुओ के खून के प्यासे बने घूम रहे थे लेकिन अब उन्होंने चुनना शुरू किया है ऐसे नेताओं को जो उनकी दिन रात पैरवी किया करते हैं और उनको आतंकी नहीं बल्कि भटके हुए नौजवान आदि संज्ञा देते रहते हैं .

सेना के पूर्व अधिकारी ने राह पकड़ी बीजेपी की और बोले- “किसी भी सैनिक की पहली पसंद है ये पार्टी”

विदित हो कि अभी हाल में ही कश्मीर में वर्तमान समय में पत्थरबाजो की सबसे बड़ी पैरवी करने वाली महबूबा मुफ़्ती के एक खास PDP नेता को गोलियों से भून डाला था . लेकिन उसके बाद अब आतंकियों ने नम्बर लगाया उमर अब्दुल्ला की पार्टी के एक बड़े नेता का जो माने जाते थे अब्दुल्ला घराने के बेहद ख़ास .. उमर अब्दुल्ला के अब्बा फारुख भी अपने पाकिस्तान परस्ती के लिए भारत ही नहीं बल्कि पाकिस्तान तक में विख्यात हैं .. अब उन्ही की पार्टी का एक नेता बना आतंकियों का निशाना ..

3 दिन पहले ही M.Tech छात्र से आतंकी बने गद्दार को खोज निकाला सेना ने, फिर हुआ वो जो देश चाहता था

विदित हो कि जम्मू-कश्मीर के दामल हंजिपोरा में नेशनल कांफ्रेंस की नेता सकीना इटू के आवास पर हमला हुआ है। एक अधिकारी ने बताया कि दक्षिण कश्मीर में सकीना इटू के घर पर ग्रेनेड फेंका गया है। हालांकि, इस हमले में कोई जनहानि नहीं हुई है लेकिन आतंकियों का इरादा यकीनन रक्तरंजित था ..इलाके को पुलिस ने घेर लिया है और  पूरे मामले की जांच कर रही है। सकीना इटू दक्षिण कश्मीर में नेशनल कांफ्रेस का एक बड़ा चेहरा हैं जिनके घर पर ग्रेनेड फेंक कर आतंकियों ने ऐसी सोच जाहिर की है जो फिलहाल अभी न सिर्फ आतंक परस्तों बल्कि खुद भारतीय सुरक्षा बलों के लिए भी सोचना का विषय है .

निकाह का शौक़ीन हो गया था दानिश… 8 निकाह कर के नौंवी जगह पहुंच गया था वो, लेकिन तब तक भर चुका था पाप का घड़ा

Share This Post