सीनेट ने दिल्ली के पूर्व कानून मंत्री तोमर की डिग्री रद्द की

नई दिल्ली : दिल्ली के विधायक और आप सरकार के पूर्व कानून मंत्री जितेंद्र सिंह तोमर की मुश्किलें खत्म होने का नाम नहीं ले रही हैं। जितेन्द्र सिंह तोमर की लॉ की डिग्री को अंतिम तौर पर रद्द कर दिया गया है। बता दें कि सोमवार को सीनेट की हुई बैठक में इस पर मुहर लगाई गई। टीएमबीयू अब इसकी अधिसूचना जारी करेगा।

तोमर ने गलत माइग्रेशन प्रमाणपत्र के आधार पर टीएमबीयू में दाखिला लिया था। पूर्व में टीएमबीयू के सिंडिकेट, अनुशासन समिति ने डिग्री रद्द करने की अनुशंसा की थी। टीएमबीयू ने राजभवन से अनुमति मांगी थी और अनुमति के बाद मामला सीनेट में रखा गया था। विश्वविद्यालय ने मामले में दोषी कर्मचारियों पर भी कार्रवाई करने की अनुशंसा की है। लेकिन यह कार्रवाई का रूप तब लेगा जब राजभवन इसके लिए अपनी अनुमति देगा।

इसके साथ ही मामले में आरोपी 14 अधिकारियों और कर्मचारियों पर कार्रवाई की अनुशंसा भी की गई थी। इस फर्जी डिग्री मामले में दिल्ली पुलिस ने हाल ही में करीब 4 हजार पन्नों की चार्जशीट भी दायर की है। गौरतलब है कि अरविंद केजरीवाल सरकार में कानून मंत्री रहे तोमर को पिछले साल दिल्ली पुलिस ने गिरफ्तार किया था। तोमर पर आरोप था कि उनकी डिग्री फेक है। तोमर को मंत्री पद से तब सितीफा देना पड़ा था जब 2015 में यह मामला मीडिया की हेडलाइन बना। तोमर फिलहाल में जमानत पर बाहर हैं।

Share This Post