कमलेश तिवारी के हत्यारों ने कहा- “हमें पछतावा नहीं बल्कि खुशी.. हमने उसे शरिया के हिसाब से सजा दी”


हिन्दू समाज पार्टी के अध्यक्ष कमलेश तिवारी का क़त्ल करने वाले दोनों हत्यारे अशफाक तथा मोइनुद्दीन व अन्य साजिशकर्ताओं से पुलिस पूंछताछ कर रही है. इस दौरान कमलेश तिवारी हत्याकांड को लेकर नित नए खुलासे हो रहे हैं. ऐसे-ऐसे खुलासे जिन्हें सुनकर पुलिस भी हैरान हो रही है. हाल ही में खुलासा हुआ था कि पुलिस पूंछताछ में अशफाक ने अपना जिगरा दिखाने की बात कही थी तो वहीं इसके अलावा एक अन्य जानकारी सामने आई है वो और अधिक चौंकाने वाली है.

खबर के अनुसार,अशफ़ाक़ और मोइद्दीन ने पूछताछ में कहा है कि उन्हें इस हत्या को करने का कोई अफसोस नहीं है, क्योंकि ये शरीयत के मुताबिक था. मीडिया रिपोर्ट्स में मुताबिक हत्यारों ने अपनी करतूत पर बिना कोई अफसोस जताए कहा कि वे इसे वाजिब- उल-कत्ल मानते हैं. इसके अलावा ये भी पता चला कि पहले मौलाना मोहसिन ने शरीयत का हवाला देकर ही इन दोनों का ब्रेन वॉश किया था और बाद में इन्होंने कत्ल करने से पहले कई अन्य मौलानाओं से भी सलाह मशविरा किया था.

बता दें कि अशफाक तथा मोइनुद्दीन को गुजरात-राजस्थान बॉर्डर से पकड़ा गया था. इस दौरान दोनों ने अपना जुर्म कबूल कर लिया था तथा कहा था कि  उन्होंने कमलेश तिवारी की हत्या शरीयत के हिसाब से की है. इसके बाद दोनों हत्यारों ने कहा था कि उन्हें कमलेश तिवारी की हत्या का कोई अफसोस नहीं है क्योंकि कमलेश तिवारी वाजिब-उल-क़त्ल था.


सुदर्शन के राष्ट्रवादी पत्रकारिता को आर्थिक सहयोग करे और राष्ट्र-धर्म रक्षा में अपना कर्त्तव्य निभाए
DONATE NOW

Share