प्रभु श्रीराम के रूप में राहुल गाँधी को दिखाया तो मच गया बवाल .. श्रीराम भक्त पहुच गये कोर्ट

वो भले ही भगवान श्रीराम के मन्दिर के पक्ष में खुल कर न बोल रहे हों , वो भी ही रामनवमी से ज्यादा रोजा इफ्तारी के कार्यक्रमों में दिखते हों . वो भले ही कभी रामसेतु को काल्पनिक बताने में गुरेज नहीं करते रहे हो .. पर जैसे ही अचानक चुनाव नजदीक आये वैसे ही भगवान श्रीराम का विभिन्न रूपों में उन लोगों ने उपयोग या सीधे शब्दों में कहा जाय तो दुरूपयोग करना शुरू कर दिया है . प्रभु के नाम के साथ अब तो उनके रूप का भी मजाक उड़ाया जाने लगा है .

लोकसभा चुनाव से पहले कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी की मुश्किलें बढ़ती नजर आ रही हैं। शुक्रवार (एक फरवरी, 2019) को बिहार में उनके खिलाफ धार्मिक भावनाएं भड़काने का आरोप लगा। पटना सिविल कोर्ट में इसी को लेकर राहुल, बिहार कांग्रेस प्रमुख मदन मोहन झा और चार अन्य के खिलाफ शिकायत दर्ज करा दी गई। इन सभी पर आरोप है कि इन्होंने जगह-जगह ऐसे पोस्टर लगाए, जिनमें प्रभु श्री राम के रूप में राहुल गांधी को दर्शाया गया। यद्दपि प्रयागराज में हुई तमाम धर्मसंसद तक में साधुओ ने इस मुद्दे को नजरअंदाज किया जबकि ये मामला सीधे सीधे उनके आराध्य श्रीराम से जुडा हुआ है .

पोस्टर में सबसे ऊपर कांग्रेस पार्टी जिंदाबाद लिखा था, जबकि बीच में संसद के बैकग्राउंड पर प्रभु श्री राम के फोटो पर राहुल का चेहरा नजर आ रहा था। राहुल के फोटो के ठीक नीचे लिखा था, ‘वे राम जपते रहे, तुम बनकर राम जियो रे!’। पास में मां और यूपीए अध्यक्ष सोनिया गांधी, बहन प्रियंका वाड्रा, पूर्व पीएम मनमोहन सिंह और पार्टी के अन्य क्षेत्रीय नेताओं की तस्वीरें नजर आ रही थीं। पटना के गांधी मैदान में रविवार (तीन फरवरी, 2019) को जन आकांक्षा रैली है। यह पोस्टर उसी से संबंधित था, जिसमें नीचे कार्यक्रमस्थल और समय की जानकारी दी गई थी।

Share This Post