ये क्या ? वीरगति के बाद भी अपने ही सैनिकों को खड़ा कर दिया कटघरे में.. ये वही है जो खुल कर पैरवी करता है रोहिंग्या की

ये वो वामपंथी नाम है जो कभी अरविंद केजरीवाल का बहुत करीबी और उनकी आम आदमी पार्टी की रीढ़ हुआ करता था..इसने न सिर्फ भगवान श्रीराम व श्रीकृष्ण जी का खुला अपमान किया था बल्कि कश्मीर मामले में भी दिया था वो बयान जो बाद में इनके खुद पर हुए एक हमले का कारण भी बना था..अब इसी ने अपने उन्ही सैनिको को कटघरे में खड़ा कर डाला है जिन्होंने कश्मीर में अपने प्राण दे डाले उन इस्लामिक आतंकियों से लड़ते हुए जिनके निशाने पर भारत के सामान्य नागरिक थे..वो भी उस समय जब सारा देश और। सभी देशभक्त उन वीरों को याद कर के रो रहे हैं और तमाम आक्रोशित भी होते जा रहे हैं ..इसी वामपंथी ने एक बार फिर से जवानों के बहाने किया है देशभक्तो के दिल पर घातक वार ..

पुलवामा हमले को पाकिस्तान के इस्लामिक संगठन जैश-ए-मोहम्मद ने अंजाम दिया, लोकल कश्मीरी कट्टरपंथियो की मदद से इस हमले को कश्मीर के ही आतंकी मोहम्मद आदिल ने अंजाम दिया, और आप जानकर हैरान हो जायेंगे की ये मोहम्मद आदिल पहले पत्थरबाज था  जिसे कुछ बुद्धिजीवियों ने मासूम की संज्ञा दे रखी है..कल के पत्थरबाज कल के आतंकी ही है, और मोहम्मद आदिल उसका उदाहरण है, पर जब पत्थरबाजो पर कार्यवाही होती है तो देश के कुछ भिनभिना जाते है और पत्थरबाजो को अपना भाई, मासूम बताने लगते है

मोहम्मद आदिल भी पत्थरबाज ही था, सेना उसे तभी ठोक देती, तो पुलवामा हमला होता ही नहीं, पुलवामा हमले के लिए देश के कुछ बुद्धिजीवी भी जिम्मेदार है जो पत्थरबाजों का संरक्षण करते है अब पुलवामा हमले के बाद देश के गद्दार पाकिस्तान और आतंकवादियों के बचाव में भी खड़े हो रहे है, कई गद्दार सामने आकर पाकिस्तान को क्लीन चिट भी दे चुके है जिसमे कांग्रेस नेता नवजोत सिंह सिद्धू भी शामिल है. और अब तो पुलवामा के आतंकी मोहम्मद आदिल को भी मासूम बताने का कैंपेन शुरू कर दिया गया है.. और इस कैंपेन को लीड कर रहा है कुख्यात आतंकवादियों का वकील, रोहिंग्या आतंकवादियों का वकील प्रशांत भूषण..

प्रशांत भूषण ने मोहम्मद आदिल को मासूम बताने की कोशिश में कहा की – वो तो तब आतंकी बना जब उसे एक बार सैनिको ने पीटा था. प्रशांत भूषण ने भारतीय सेना को ही अत्याचारी बता दिया और साबित करने में लग गया की मासूम कश्मीरी युवक तो भारतीय सेना के कारण आतंकी बन रहे है, वो आतंकी थोड़ी है, भारतीय सेना के अत्याचार से वो आतंकी बनते है..वैसे तो अत्याचार कश्मीरी हिन्दुओ पर भी बहुत ज्यादा हुआ पर 1 भी कश्मीरी हिन्दू तो आतंकी नहीं बना, पर प्रशांत भूषण जैसे लोग इस्लामिक आतंकियों के बचाव में नीचता की सभी स्तरों को बार बार लांघ जाते है, और भारतीय सेना को ही जिम्मेदार बता देते है.

 

 

राष्ट्रवादी पत्रकारिता को समर्थन देने हेतु हमे आर्थिक सहयोग करे. DONATE NOW पर क्लिक करे
DONATE NOW