शर्म को भी शर्मशार करता शरद यादव का नारी विरोधी बयान… वसुंधरा राजे को आराम दो अब, थक गई है.. पहले पतली थी अब मोटी हो गई है \

राजस्थान विधानसभा चुनाव प्रचार के आख़िरी दिन 5 दिसंबर को लोकतान्त्रिक जनता दल के प्रमुख शरद यादव ने राजस्थान की मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे सिंधिया को लेकर एक ऐसा बयान दिया, जिसे सुन शर्म भी शर्म से शर्मशार हो गई. वसुंधरा राजे को लेकर शरद यादव के बयान ने सारी राजनैतिक मर्यादाएं तोड़ दी. लोकतांत्रिक जनता दल के संरक्षक शरद यादव ने बुधवार को मुंडावर में मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे पर बेहद ही आपत्तिजनक टिप्पणी करते हुए कहा कि ये वसुंधरा अब मोटी हो गई, बहुत मोटी हो गई है, इसे अब आराम दो.

शरद यादव ने कहा कि राजस्थान में शाम 7 बजे बाद सरकार काम नहीं करती है. ये हमारे मध्यप्रदेश की बेटी है, लेकिन महलों में रहने वाली किसान-मजदूर की पीड़ा नहीं जानती. भाजपा पांचों राज्यों में चुनाव हारेगी, ये फिर से सत्ता में आने के लिए एक-एक सीट पर 40 से 50 करोड़ रुपए खर्च कर रही है, जो लोकतंत्र के लिए अच्छी बात नहीं है. कांग्रेस, लोकतांत्रिक जनता दल और राष्ट्रीय लोकदल गठबंधन के प्रत्याशी भारत यादव के समर्थन में हुई सभा को शरद यादव, रालोद के जयंत चौधरी, कांग्रेस सांसद पीएल पूनिया ने भाजपा की प्रदेश और केंद्र सरकारों को जमकर कोसा.

शरद यादव ने कहा जयपुर से लेकर दिल्ली तक झूठों का राज है. देश में पहले इमरजेंसी लगी थी, अब अघोषित इमरजेंसी है, लेकिन ये पांचों सूबों में हारेंगे तब पूरे देश उठ खड़ा होगा. प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने हमेशा बडे़ पूंजीपतियो को फायदा और करीब किसानों का नुकसान पहुंचाया है. गरीब जनता के 35 हजार करोड़ विजय माल्या जैसे लोग लेकर भाग गए लेकिन इन्होंने कुछ नहीं किया. नोटबंदी, जीएसटी की मार जनता आज तक झेल रही है. पेट्रोल व डीजल महंगा कर दिया. देश में बेरोजगारों की संख्या बढती जा रही है. राष्ट्रीय लोक दल के राष्ट्रीय महासचिव व पूर्व सांसद जयंत चौधरी ने कहा कि जो देश व प्रदेश के भक्षक हैं अब उन्हें सत्ता में आने से रोकना होगा.

Share This Post