शिव सेना ने ठोकी ताल राष्ट्रपति वही बनेगा, ” जो आँख बन्द करके हिन्दू राष्ट्र के प्रस्ताव पर करेगा हस्ताक्षर इसके आलावा कोई और मंजूर नहीं ”

शिव सेना प्रमुख उद्धव ठाकरे ने हिंदुत्ववादी व्यक्ति को राष्ट्रपति भवन भेजने की मांग की है. पार्टी ने अपने मुखपत्र ‘सामना’ के संपादकीय में लिखा है, ‘अब तक राष्ट्रपति भवन में सेक्युलर रबर स्टैंप ही रहे हैं. लेकिन राम मंदिर, समान नागरिक संहिता और अनुच्छेद-370 के मुद्दों का समाधान करने के लिए अब किसी हिंदुत्व के ‘रबर स्टैंप’ को राष्ट्रपति की कुर्सी पर बैठाने की जरूरत है.’ शिवसेना ने आगे लिखा है कि अगला राष्ट्रपति ऐसा व्यक्ति होना चाहिए जो राष्ट्रवादी हो और देश में हिन्दू राज बनाने के फैसले पर मुहर लगा सके.
शिव सेना ने इससे पहले राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ (आरएसएस) प्रमुख मोहन भागवत को राष्ट्रपति पद का उम्मीदवार घोषित करने की मांग की थी. हालांकि, खुद मोहन भागवत ने राष्ट्रपति पद के उम्मीदवार के लिए दिलचस्पी नहीं दिखाई थी. चुनाव आयोग ने राष्ट्रपति चुनाव के लिए 17 जुलाई की तारीख तय कर दी है.
Share This Post