Breaking News:

मंदिर के प्रसाद में मिलता जहर और लाशें गिर जाती न जाने कितनी.. और बाद में कहते- “हिन्दू के भगवान ने क्यों नहीं बचाया”

पिछले दिनों महाराष्ट्र के औरंगाबाद और मुंबई से सटे मुंब्रा से पकड़े गए ISIS के 10 इस्लामिक आतंकियों से पूछताछ के दौरान खौफनाक तथा सनसनीखेज खुलासा हुआ है. आतंकियों ने खुफिया एजेंसियों को बताया है कि वह बम ब्लास्ट आदि करके नहीं दूसरे तरीके से हिन्दुस्तान में नरसंहार करना चाहते थे. बता दें कि महाराष्ट्र एटीएस द्वारा गिरफ्तार इन आतंकियों को औरंगाबाद कोर्ट में पेश किया गया, जहां से उन्हें 14 फरवरी तक के लिए एटीएस की कस्टडी में भेज दिया गया है.

आतंकियों ने कबूला है कि का इरादा मुंब्रा के 400 साल पुराने प्राचीन शंकर मंदिर को निशाना बनाने का था. मंदिर में होने वाले भंडारे के भोजन  में केमिकल पॉइजन मिलाकर लाखों श्रद्धालुओं को एक साथ मौत के  घाट उतारने की योजना आतंकियों ने बनाई थी. आईएसआईएस पहले भी ऐसी कोशिश कर चुका था, लेकिन उसे नाकामयाबी हाथ लगी थी. लेकिन इस बार आगामी शिवरात्रि को फिर इस साजिश को अंजाम दिया जाना था.  मुंब्रा के इस प्राचीन शिव मंदिर के ट्रस्टी हीरालाल गुप्ता ने बताया कि संदिग्ध आतंकी को लेकर महाराष्ट्र एटीएस की टीम ने यहां आकर पूछताछ की थी.

एटीएस ने मंदिर के किचन में दाखिल होने के सभी रास्तों  सहित भंडारे के लिए खाना तैयार करने वाले केटरिंग सर्विस संचालक की पूरी जानकारी ली थी. मुंब्रा के इस 400 साल पुराने मंदिर में आयोजित होनेवाले भंडारे में करीबन 40 से 50 हजार लोग शामिल होते हैं. यही वजह थी कि  जब कुछ दिन पहले मंदिर में  शिवकथा के बाद भंडारा रखा गया था तब संदिग्ध आतंकी पीछे के रास्ते से दाखिल हुआ और रसोई तक जा पहुँचा, लेकिन किचन में बावर्ची सहित कई अन्य लोग मौजूद थे. यही वजह थी कि आंतकी खाने में जहर नहीं मिला पाया.

ये भी पता चला है कि कि आतंकी बीएमसी अस्पताल में दी जाने वाली दवाओं में केमिकल पॉइजन मिलाकर बड़े पैमाने पर लोगों को मौत के घाट उतारने की कोशिश में थे. पकड़े गए आतंकियों में से एक मुंबई सेन्ट्रल स्थित बीएमसी अस्पताल  के ‘सेक्सुअली ट्रांसमिटेड डिसीज’ डिपार्टमेंट में बतौर फार्मासिस्ट काम कर रहा था. साजिश इतनी खतरनाक थी कि दवा लेने वाले मरीजों की मौत कैसे हुई इस बात का पता भी नहीं चल पाता. फार्मासिस्ट के रूप में काम करने वाला ये आतंकी बेहद खतरनाक था. इसका नाम जमन कुट्टेपडी है. इसने एक ऐसा केमिकल तैयार किया था जिसकी चंद बूंदों से बड़ी तबाही मचाई जा सकती थी. लेकिन इससे पहले ये  इस्लामिक आतंकी अपने नापाक मंसूबों को अंजाम तक पहुंचा पाते, महाराष्ट्र ATS ने इन्हें धर दबोचा.

Share This Post