BSF की सुविधाओं के खिलाफ बोल कर पाकिस्तानी मीडिया के हीरो बने तेज बहादुर यादव के साथ हुई एक बड़ी अनहोनी

अपने अपलोड वीडियो के चलते भारत से ज्यादा विदेशी मीडिया में चर्चा का विषय बने BSF के पूर्व बर्खास्त जवान तेज बहादुर यादव को सामना करना पड़ा है एक ऐसी अनहोनी का जो उन्होंने कल्पना भी नही की होगी.. एक ऐसी हृदय विरादक घटना जिसने हिला कर रख दिया है उनके पूरे परिवार को..पतली दाल और जली हुई रोटी का वीडियो फेसबुक पर अपलोड करके चर्चा में आने वाले बीएसएफ के पूर्व जवान तेज बहादुर यादव के बेटे ने आत्महत्या कर ली है। तेज बहादुर यादव के बेटे ने अपने पिता की लाइसेंसी रिवॉल्वर से खुद को गोली मार ली। घटना के समय तेज बहादुर यादव घर पर नहीं थे।

इस घटना की जानकारी मिलने के बाद स्थानीय पुलिस और एफएसएल की टीम मौके पर पहुंची और मामले की तफ्तीश की। जानकारी के मुताबिक तेज बहादुर यादव का बेटा रोहित कुमार दिल्ली विश्वविद्यालय में बीएससी द्वितीय वर्ष का छात्र था। इन दिनों तेज बहादुर यादव उत्तर प्रदेश के प्रयागराज में हो रहे कुंभ में स्नान करने के लिए गए हुए हैं। शुरुआती जांच में यह आत्महत्या का मामला लग रहा है। पुलिस घरवालों से जानकारी ले रही है कि क्या मृतक किसी तरह के तनाव से गुजर रहा था घटना के वक्त मृतक घर में अकेला था। मृतक की मां नौकरी के लिए घर से बाहर गई हुई थी। उसने घर आकर बेटे के कमरे का दरवाजा खटखटाया तो अंदर से कोई आवाज नहीं आई।

इसके बाद मृतक की मां ने पड़ोसियों को बताया तो लोग दरवाजा तोड़कर अंदर दाखिल हुए। कमरे में तेज बहादुर के बेटे का शव खून से लथपथ पड़ा हुआ था। इसके बाद सभी लोगों ने पुलिस को मामले की जानकारी दी। पुलिस फिलहाल इस मामले की सभी पहलुओं से जांच कर रही है।  बता दें कि मृतक के पिता यानी तेज बहादुर यादव ने कुछ समय पहले बॉर्डर सिक्योरिटी फोर्स (बीएसएफ) में रहते हुए फेसबुक पर कुछ वीडियो अपलोड कर दिए थे।

इन वीडियो में उन्होंने खराब खाने का हवाला देते हुए कहा था कि बीएसएफ के जवानों को कड़ाके की ठंड में अच्छी डाइट नहीं मिल पा रही है। उन्होंने कहा था कि जवानों के हिस्से का राशन कुछ अधिकारी बीच में ही गबन कर देते हैं। बीएसएफ ने तेज बदादुर यादव के आरोपों के बाद मामले की जांच के आदेश दिए थे। इस घटनाक्रम में तेज बदाहुर यादव को अनुशासनहीनता का दोषी पाया गया था और उन्हें बर्खास्त कर दिया गया था।

Share This Post