Breaking News:

जबरन कब्ज़ा कर के बन गयी थी एक बस्ती जिसमे आग लगा कर बोले – “पुलिस ने फूंक दिया घर”. कौन रहते थे उस बस्ती में ?

लैंड जिहाद के जिस साजिश को सुदर्शन न्यूज लगातार बेनकाब करता आया है और उस से सतर्क रहने के लिए आम लोगों को संदेश देता हां है अब उसका सबसे वीभत्स रूप मेरठ में देखने को मिल रहा है . यहाँ पर उन्मादियों ने अवैध कब्जे से बनी एक पूरी बस्ती ही बना डाली थी और वहां पर घुसपैठियों के भी होने की संभावना जताई जाती रही . जब पुलिस ने अतिक्रमण के खिलाफ मुहिम छेडी तब उन्होंने रची ऐसी साजिश कि पुलिस तक को आना पड़ा बैकफुट पर .

ज्ञात हो कि जिस बस्ती के जल कर राख होने की बात बताई जा रही है सूत्रों के मुताबिक उस बस्ती में बंगलादेश से आये घुसपैठिये भी हो सकते हैं .  हद तो ये रही कि उस बस्ती का जलना मेरठ पुलिस की कार्यवाही से जोड़ कर बताया जा रहा है जबकि पुलिस ने उस आग को बुझाने की हर सम्भव कोशिश की थी . असल में ये पूरी सोची समझी साजिश है बाहरी घुसपैठियों को मेरठ में बसाने की और आगे उनके ऊपर कोई कार्यवाही न हो उसको सुनिश्चित करने की .

घटना मेरठ के सदर थाना क्षेत्र की भूसा मंडी की है। भूसा मंडी की झुग्गी-झोपड़ी में काफी संख्या में मजदूरी करने वाले लोग रहते हैं। इनमें से कुछ कबाड़ का काम करते हैं। बताया जा रहा है कि रहीसुद्दीन नाम का व्यक्ति मकान का निर्माण कर रहा था। बुधवार दोपहर कैंटोनमेंट बोर्ड की टीम और सदर थाने की पुलिस ने अवैध निर्माण को ध्वस्त करा दिया। वहां रहने वाले लोगों और टीम के अधिकारियों में भिड़ंत हो गई। बताया जा रहा है कि गुस्साई भीड़ ने कैंट बोर्ड के एक कर्मचारी को पीट दिया और पुलिस के सिपाही सतेंद्र से वायरलेस छीन लिया। बवाल बढ़ने की सूचना पर पहुंची सदर थाने की पुलिस पर भी हमला किया है .

Share This Post