कल्बे जव्वाद ने बताया आज़म खान का चरित्रहीन इतिहास.. जमीन ही नहीं, महिलाओं की सुरक्षा के लिए भी आज़म खान है खतरा

बेहद ही भड़काऊ, सांप्रदायिक तथा महिलाओं को लेकर आपत्तिजनक टिप्पणियों के लिए कुख्यात समाजवादी पार्टी के लोकसभा सांसद आज़म खान के बारे में एक हैरान करने वाला खुलासा हुआ है. ये खुलासा इस बात को और मजबूती से साबित करता है कि आज़म खान अभी से महिलाओं के बारे में गलत नियत नहीं रखते बल्कि उनका स्वाभाव ही महिलाओं को लेकर ऐसा ही है. ये खुलासा इस बात पर भी मुहर लगाता है कि भूमाफिया आज़म खान जमीनों के लिए ही नहीं बल्कि महिलाओं की सुरक्षा के लिए भी बड़ा खतरा हैं.

खबर के मुताबिक़, शियाओं के सबसे बड़े नाम कल्बे जव्वाद ने आज़म खान के बारे में बड़ा खुलासा करते हुए कहा है कि

आजम खान ने 1975 में भी एक महिला से बदसलूकी की थी जिसके चलते खान को अलीगढ़ मुस्लिम यूनिवर्सिटी AMU से एक साल के लिए निष्‍कासित कर दिया गया था. यह मामला उस वक्त जब उनके खिलाफ कार्रवाई की गई थी तब वह मास्टर ऑफ लॉ (एलएलएम) की पढ़ाई कर रहे थे और अलीगढ़ मुस्लिम विश्वविद्यालय छात्रसंघ (एएमयूएसयू) के सचिव भी थे. मौलाना कल्बे जव्वाद के मुताबिक, आज़म खान फीमेल वार्ड में जबरन घुस गए थे तथा वहां से निकल ही नहीं रहे थे. जिसके बाद उन्हें एक साल के लिए निकाल दिया गया था.

कल्बे जव्वाद ने बताया कि विश्वविद्यालय ने एक जांच समिति का गठन किया और उसमें उन्हें दोषी पाया गया. आखिरकार, छह अक्टूबर, 1975 को उन्हें निष्कासित कर दिया गया. आपको बता दें कि रामपुर में किताबों की चोरी, जमीन हड़पने के आरोप के अलावा आजम खान पर भाजपा नेत्री जया प्रदा के खिलाफ अपमानजनक टिप्पणी करने के भी आरोप लगे हैं. हाल ही में उन्होंने लोकसभा में भाजपा की महिला सांसद के खिलाफ भी अभद्र टिप्पणी की थी, जिसके लिए उन्हें सदन में माफी मांगनी पड़ी थी.

सुदर्शन न्यूज को आर्थिक सहयोग करने के लिए नीचे DONATE NOW पर क्लिक करे
DONATE NOW