बलिदानी कमलेश तिवारी की माता जी के बयान को जो बना रहे थे सत्ता के खिलाफ हथियार, वही अब उन्ही की मात्र एक लाइन में हो गए खामोश


गत कुछ समय से कमलेश तिवारी की हत्या के बाद समाज 2 रूप में देखने को मिला था.  पहला रूप वो था जो इस हत्याकांड को एक जघन्यतम अपराध मान कर इसको आतंकी स्वरूप देते हुए समाज को सतर्कता व सावधानी का संदेश दे रहे थे, लेकिन वहीं दूसरा रूप वो था जो कहीं न कहीं मज़हबी चरमपंथ के इस वीभत्स स्वरूप को अपने कुतर्क व निराधार तथ्यों से ढ़कने की पुरजोर कोशिश कर रहा था.. कमलेश तिवारी की जघन्य हत्या के बाद उनके हत्यारो को तलाशने के लिए दिन रात एक कर देने वाले पुलिस बल को सहयोग करने के बजाय अनर्गल प्रलाप आखिरकार अब शांत होने की आशा है क्योंकि गुजरात पुलिस की ATS विंग ने धर दबोचा है उन दोनों आतंकी हत्यारो को जिन्होंने सत्ता को अपने दुस्साहस से दी है चुनौती..

विदित हो कि एक सही और सटीक राह पर चल कर विवेचना करती उत्तर प्रदेश पुलिस को भटकाने के लिए बार बार एक वर्ग कमलेश तिवारी की माता जी के दुख की घड़ी में दिए गए बयान को अपने अनुसार तोड़ मरोड़ कर पेश कर रहा था… यहां ये भी जरूरी है जानना कि उस वर्ग ने एक बार भी कमलेश तिवारी की पत्नी, उनके बेटे , उनके पिता आदि को नही दिखाया.  सबसे ज्यादा उसी वर्ग का प्रयास ये रहा कि वो अपने मचाये शोर में ओवैसी की उस धमकी को दबा दें जो उसने कुछ वर्ष पहले कमलेश तिवारी को खुले मंच से दी थी और कहा था कि तूने अपनी तबाही को न्योता दिया है और ये दुनिया तेरे लिए चूहे के बिल जैसी बन जाएगी..

हद तो वहाँ तक पहुचीं जब बड़े लोगों के पैर छूने व सन्यासियों को नतमस्तक होने के कमलेश तिवारी द्वारा अपने बेटे को दिए संस्कारो को विपक्ष ने मज़ाक उड़ाया और योगी के पैर छूने को जातिवाद से जोड़ डाला.. इसको कहना गलत नही होगा कि विपत्ति काल मे कमलेश तिवारी के परिवार को जातिवादी राजनीति का हथियार बनाया गया, जबकि कमलेश तिवारी खुद सिर्फ हिन्दू और हिंदुत्व की पैरवी करते थे न कि जातिवाद की ..आखिरकार खुद कमलेश तिवारी की माता जी ने उन सभी जातिवादियों को खामोश कर दिया है अपने एकमात्र बयान से..

गुजरात ATS द्वारा कमलेश तिवारी के दोनों हत्यारो को दबोच लेने के बाद कमलेश तिवारी जी की माता जी को शांति मिली है और उन्होंने सरकार की सराहना करते हुए कहा है कि सरकार एकदम सही दिशा में जा रही है और वो सरकार के इस एक्शन से संतुष्ट हैं.  इतना ही नहीं, उन्होंने आगे अपने बयान में कहा कि इन दोनों हत्यारों को जल्द से जल्द फांसी पर झूलते देखना उनकी इच्छा है जिसे सरकार पूरी करे.  योगी आदित्यनाथ के खिलाफ उनके बयानों को हथियार बनाने वालों के लिए कमलेश तिवारी की माता जी के अब इस बयान पर शायद ही कोई प्रतिउत्तर हो.. यद्द्पि उत्तर प्रदेश सरकार पूरा प्रयास करती दिख रही है हत्यारो को जल्द से जल्द फांसी के फंदे तक पहुचाने के लिए जिसकी पल पल की जानकारी व अपडेट खुद मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ले रहे हैं..


सुदर्शन के राष्ट्रवादी पत्रकारिता को आर्थिक सहयोग करे और राष्ट्र-धर्म रक्षा में अपना कर्त्तव्य निभाए
DONATE NOW

Share
Loading...

Loading...