Breaking News:

पी. चिदंबरम कहते थे कि “माल्या, नीरव तथा चौकसी कैसे भागे” .. अब सीबीआई के डर से खुद घर छोड़कर भागे पी. चिदंबरम

एक समय था जब भगोड़े विजय माल्या, नीरव मोदी तथा महूक चोकसी के देश से भागने को लेकर कांग्रेस पार्टी के नेता तथा देश के पूर्व गृहमंत्री पी. चिदंबरम मोदी सरकार पर लगातार निशाना साधते थे. न सिर्फ चिदंबरम बल्कि पूरी कांग्रेस पार्टी पीएम मोदी पर इन तीनों भगोड़ों को लेकर निशाना साधती थी. कांग्रेस के तत्कालीन अध्यक्ष राहुल गांधी अपने लगभग हर भाषण में नीरव मोदी तथा मेहुल चौकसी को लेकर पीएम मोदी पर हमला बोलते थे.

लेकिन अब समय बदल गया है तथा भ्रष्टाचार के गंभीर आरोपों से घिरे पी. चिदंबरम खुद घर छोड़कर भाग गये हैं. खबर के मुताबिक़, INX मीडिया केस में दिल्ली हाई कोर्ट से अग्रिम जमानत की अर्जी खारिज होने के बाद से पूर्व वित्त मंत्री पी चिदंबरम ‘लापता’ हो गए हैं. सीबीआई उनकी तलाश में दो बार उनके घर जा चुकी है लेकिन पी. चिदंबरम सीबीआई से बचने को भागे भागे फिर रहे हैं. बता दें कि मंगलवार देर रात सीबीआई की टीम दोबारा चिदंबरम के घर पहुंची थी.

सीबीआई के अधिकारियों ने चिदंबरम के घर के बाहर नोटिस चिपकाकर उन्‍हें दो घंटे के भीतर पेश होने का निर्देश दिया था, बावजूद इसके चिदंबरम के बारे में अब तक कोई जानकारी नहीं मिल पाई है. सीबीआई उनकी तलाश में जुटी है तथा सीबीआई की टीम चिदंबरम के घर के बाहर डटी हुई है. बता दें कि इससे पहले भी सीबीआई की टीम चिदंबरम के घर गई थी पर उनके वहां नहीं मिलने के कारण वापस लौट आई थी. सीबीआई टीम के लौटने के थोड़ी देर बाद ही ईडी की टीम भी चिदंबरम के घर पहुंची. दोनों एजेंसियां लगातार उनसे फोन से सम्पर्क करने की कोशिश कर रही हैं, लेकिन कोई यह नहीं बता पा रहा है कि आखिर चिदंबरम हैं कहां?

सीबीआई अधिकारियों का नेतृत्व पुलिस अधीक्षक स्तर के अधिकारी कर रहे थे. अधिकारियों ने बताया कि चिदंबरम के आवास पर गई टीम के सदस्यों ने सीबीआई मुख्यालय आकर वरिष्ठ अधिकारियों के साथ बैठक की और भविष्य की रणनीति पर चर्चा की. टीम के सदस्यों ने चिदंबरम के आवास पर नोटिस चस्पा किया जिसमें सीबीआई के उपाधीक्षक आर पार्थसारर्थी के समक्ष पेश होकर सीआरपीसी की धारा 161 के तहत बयान दर्ज कराने को कहा गया. सूत्रों ने बताया कि समन चिदंबरम को ई-मेल के जरिए भी भेजा गया है लेकिन चिदंबरम लापता हो गये हैं.

गौरतलब है कि मंगलवार को दिल्ली हाई कोर्ट ने चिदंबरम को अग्रिम जमानत देने से इनकार कर दिया। हाई कोर्ट ने अपने फैसले में कहा कि तथ्य इस तरफ इशारा करते हैं कि इस मामले में चिदंबरम ही किंगपिन हैं। हाई कोर्ट ने कहा कि पहली नजर में देखने से हाई कोर्ट को यह लगता है कि इस मामले में एक असरदार जांच के लिए चिदंबरम को हिरासत में लेकर पूछताछ करना बेहद जरूरी है. इधर, चिदंबरम ने गिरफ्तारी से बचने के लिए शीर्ष अदालत मे याचिका भी लगाई है. चिदंबरम के वकील एवं पूर्व केंद्रीय मंत्री कपिल सिब्बल ने जस्टिस एनवी रमना की अदालत में अर्जी दी है जिसमें सुप्रीम कोर्ट आज 10:30 बजे सुनवाई करेगा. इसको लेकर सीबीआई ने कहा है कि वह चिदम्बरम की याचिका का विरोध करेगी.

Share This Post