जमात-ए-इस्लामी के बाद सुन्नी उलेमा बोले- “मुसलमानो! हिन्दू पार्टी को नहीं बल्कि अपनी कौम के हक़ में वोट करो”


आज से 2019 लोकसभा चुनावों के लिए मतदान शुरू हो चुका है. आज सुबह से ही देशभर की 91 लोकसभा सीटों पर वोट डाले जा रहे हैं. लेकिन वोटिंग से ठीक एक दिन पहले उनकी तरफ से खुलकर धर्म के नाम पर वोट करने की अपील की गई है जो आरएसएस पर सांप्रदायिक होने के आरोप लगाते हैं. इस्लामिक संगठन जमात-इस्लामी के बाद सुन्नी उलेमा ने भी मुसलमानों से अपील की है कि वह हिन्दू पार्टी को हराने के लिए वोट करें.

मुसलमानो! बीजेपी को हराना है तो गठबंधन को वोट करो- जमात-ए-इस्लामी .. चुप हैं धर्मनिरपेक्षता के ठेकेदार

आपको बता दें कि आज दक्षिण भारत के दो राज्य आंध्र प्रदेश तथा तेलंगाना की सभी लोकसभा सीटों पर मतदान हो रहा है. मतदान से एक दिन पहले हैदराबार से ऑल इंडिया सुन्नी उलेमा काउंसिल बोर्ड ने हिंदू पार्टी को वोट न देने की अपील की. बकायदा एक प्रेस रिलीज जारी करते हुए सभी मुसलमानों से हिंदू पार्टी को वोट न देने की गुजारिश की गई. ऑल इंडिया सुन्नी उलेमा बोर्ड ने प्रेस रिलीज जारी करते हुए लिखा है कि जम्हूरियत को बचाओ, मुल्क बचाओ, सेक्यूलर जमात को वोट देकर इंसानियत का सबूत दो.

सपा-बसपा-कांग्रेस का भरोसा अली में तो हमारा भरोसा बजरंग बली में हैं- योगी आदित्यनाथ

इसके अलावा आगे लिखा है कि पार्लियामेंट चुनाव में मुस्लिम अपनी कौम के हक में वोट का इस्तेमाल करें. आगे लिखा है कि संसदीय चुनाव का जातिगत स्तर पर इस्तेमाल किया जाता है, जो अपना कानून बनाते हैं और अपने मंसूबे पूरे करने के लिए भारतवासियों की तकदीर का फैसला कर देते हैं. साथ ही लिखा है कि भारत की आजादी के 70 साल में गरीबों, मजलूमों, बेकसूरों के लिए कुछ भी सही तरीके से नहीं किया गया.

“राष्ट्रवाद” पर छिड़ी बहस के बीच आया पीएम मोदी का बयान.. बताया कि क्या है उनके लिए “राष्ट्रवाद” का मतलब

इस्लामिक संगठन खुलकर मुस्लिमों से हिन्दू पार्टी तथा हिन्दू विचारधारा वाले प्रत्याशियों को हराने की अपील कर रहे हैं लेकिन इस सबके बाद भी उन लोगों की चुप्पी सवाल खड़े करती है जो धर्मनिरपेक्षता की बात करते हैं. एकतरफ आरएसएस प्रमुख मोहन जी भागवत ने विकास तथा राष्ट्र के लिए वोट करने की अपील की है. खुद पीएम मोदी ने देश की मजबूती के लिए वोट करने की अपील की है तो वहीं दूसरी तरफ इस्लामिक संगठनों ने हिन्दू पार्टी को, हिन्दू विचारधारा वाले प्रत्याशियों को हराने के लिए वोट करने की अपील की है. आश्चर्य की बात ये है कि इस सबके बाद भी आरएसएस सांप्रदायिक है तथा धर्म के नाम पर वोट की अपील करने वाले इस्लामिक संगठन धर्मनिरपेक्ष.

CBI ने बताई लालू की वो चाल जो उन्होंने इस चुनाव में सोच रखी है

राष्ट्रवादी पत्रकारिता को समर्थन देने व हमें मज़बूत करने के लिए आर्थिक सहयोग करें।

Paytm – 9540115511

 


सुदर्शन के राष्ट्रवादी पत्रकारिता को आर्थिक सहयोग करे और राष्ट्र-धर्म रक्षा में अपना कर्त्तव्य निभाए
DONATE NOW

Share
Loading...

Loading...