Breaking News:

किसानों के अब आएंगे अच्छे दिन, सीएम योगी की राह पर तमिलनाडु और महाराष्ट्र सरकार

नई दिल्ली : यूपी में किसानों को राज्य सरकार की ओर से बड़ी राहत मिलने के बाद दूसरे राज्यों में भी कर्जमाफी की मांगें उठने लगी है। महाराष्ट्र और तमिलनाडु में भी किसानों के कर्जमाफी की मांग तेज हो गई है। एक ओर जहां महाराष्ट्र के वित्त मंत्री सुधीर मुनगंटीवार ने संकेत दिए कि महाराष्ट्र में भी बीजेपी सरकार किसानों के कर्जमुक्ति पर विचार-विमर्श कर रही है।

वहीं, मद्रास हाई कोर्ट ने तमिलनाडु सरकार को सूखा प्रभावित किसानों के कर्ज माफ करने को कहा है। दूसरी ओर, शिवसेना प्रमुख उद्धव ठाकरे ने उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ को 2 करोड़ 15 लाख किसानों के 36 हजार 359 करोड़ रुपये माफ करने के लिए बधाई दी। ठाकरे ने कहा कि चुनावी घोषणा सिर्फ जुमले नहीं होते, ये योगी जी ने साबित किया है और पहली कैबिनेट बैठक में ही चुनावी वादों को पूरा करना गर्व का विषय है।

उन्होंने कहा कि मैं (महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री) देवेंद्र फडणवीस से अपील करता हूं कि आदित्यनाथ के कदमों पर चलें और ऋण माफी की घोषणा करें। शिवसेना महाराष्ट्र और केंद्र दोनों स्थानों पर सरकार में भाजपा की सहयोगी है। बता दें कि कैबिनेट बैठक करीब डेढ़ घंटे तक चली। योगी सरकार ने किसानों का एक लाख तक का कर्ज माफ करने का फैसला लिया। इससे राज्य के 86 लाख किसानों को लाभ होगा।

हालांकि, प्रेस कॉन्फ्रेंस में सिद्धार्थनाथ सिंह ने बताया कि इससे 2.15 करोड़ किसानों को लाभ होगा, लेकिन जारी प्रेस नोट में 31 मार्च 2016 तक 86 लाख किसानों को इस कर्ज माफी से होने वाले लाभ के बारे में कहा गया है। योगी कैबिनेट ने पहले फैसले में 30 हजार 729 करोड़ का कर्ज पूरी तरह से माफ किया। इन किसानों पर अधिकतम एक लाख रुपये तक का कर्ज है। 7 लाख किसानों का लोन जो एनपीए बन गया है वो भी माफ किया गया है। इन 7 लाख किसानों पर तकरीबन 5630 करोड़ रुपये का एनपीए था जो माफ किया गया है।

Share This Post