अब नहीं रहा तुष्टिकरण. बहादुर व जांबाज़ लेखिका तस्लीमा नसरीन को मोदी सरकार का तोहफ़ा


केंद्रीय गृह मंत्रालय ने विवादित बांग्लादेशी लेखिका तसलीमा नसरीन के वीजा की अवधि एक साल तक के लिए बढ़ा दी है। यह 23 जुलाई, 2017 से प्रभावी होगा। आधिकारिक सूत्रों ने बताया कि गृहमंत्री राजनाथ सिंह ने मंगलवार को तसलीमा के वीजा की मियाद बढ़ाने को मंजूरी दी। स्वीडन की नागरिक तसलीमा के वीजा की मियाद साल 2004 से लगातार बढ़ाई जा रही है।


सूत्रों ने कहा कि स्वीडिश पासपोर्ट के आधार पर तसलीमा के वीजा की मियाद बढ़ाई गई है। बांग्लादेश में कट्टरपंथी समूहों की ओर से धमकी दिए जाने के बाद साल 1994 में तसलीमा बांग्लादेश से बाहर निकल गई थीं। इसके बाद से वह निर्वासित जीवन बिता रही हैं।


सलीमा ने भारत में स्थायी निवास के लिए आवेदन भी किया था। एक सूत्र ने कहा कि गृह मंत्रालय ने अभी इस संदर्भ में कोई फैसला नहीं किया है। मुसलमानों के एक धड़े के हिंसक विरोध के बाद 2008 में तसलीमा को कोलकाता छोड़ना पड़ा था।


सुदर्शन के राष्ट्रवादी पत्रकारिता को आर्थिक सहयोग करे और राष्ट्र-धर्म रक्षा में अपना कर्त्तव्य निभाए
DONATE NOW

Share