Breaking News:

दुनिया जानेगी अवार्ड वापसी के पीछे छिपी साजिश…. इसे शुरू करने वाले के खिलाफ पड़ी CBI

सरकार हर उन नमक हरामो के खिलाफ जो देश को विभाजीत करने की साजिश रच रहे है और देश को अंदर ही अंदर तोड़ रहे है, देश की खाते है पर देश को ही खोखला करते है. अब सरकार एक एक कर उनको निशाने पर ले रही है. ज्ञात हो की लंबे समय से चल रही ललित कला अकादमी की अनियमितताओं की जांच के मामले में नया मोड़ आया है. मिली जानकारी के मुताबिक 20 नवंबर 2017 को सरकार ने सीबीआई डायरेक्टर को एक खत लिखा है.

इस खत में उन अनियमितताओं और सरकारी नियमों की अनदेखी की जांच करने की बात की गई है. इस खत के मुताबिक 2012-13 से 2014-15 के बीच का इंटरनल ऑडिट करवाया गया है. इस ऑडिट में सामने आया है कि इस दौरान कई नियमों की अनदेखी कर कई जगह सीमा से ज्यादा भुगतान किया गया है. इस खत में मंत्रालय ने विशेष रूप से अकादमी के भूतपूर्व चेयचेयरमैन अशोक वाजपेयी के खिलाफ शिकायतों की जांच करने की बात की है.

आपको बताते चले कि भूतपूर्व चेयचेयरमैन अशोक वाजपेयी वही है जो देश में कट्टरपंथियों के द्वारा बुद्धिजीवी लोगों के हत्या के खिलाफ साहित्यकारों और कलाकारों ने अवार्ड वापसी की मुहीम चलाई थी. अवार्ड वापिस करने वाले कलाकारों और साहित्यकारों में अशोक वाजपेयी भी शामिल थे. आपको बता दे कि ये अवार्ड वापसी समुदाय अपने मन मुताबित सुनियोजित विषयो पर ही बस अवार्ड वापिस कर रही थी.

Share This Post