भाजपा मंत्री के सच को अदालत में चुनौती देगा टीपू का परिवार….


ब्रिटिश गवर्मेंट के अधिकारी और लेखक विलियम लोगान ने अपनी किताब ‘मालाबार मैनुअल’ के अनुसार टीपू सुल्तान ने अपने 30,000 सैनिकों के दल के साथ कालीकट में तबाही मचाई थी. टीपू सुल्तान ने पुरुषों और महिलाओं को सरेआम फांसी दी और उनके बच्चों को उन्हीं के गले में बांध पर लटकाया गया. साथ ही टीपू सुल्तान पर मंदिर, चर्च तोड़ने और जबरन शादी जैसे कई आरोप हैं.

अगर बात करे 1964 में प्रकाशित किताब ‘लाइफ ऑफ टीपू सुल्तान’ की तो उसमे कहा गया है कि सुल्तान ने मालाबार क्षेत्र में एक लाख से ज्यादा हिंदुओं को मुस्लिम धर्म अपनाने के लिए मजबूर किया। किताब के अनुसार टीपू सुल्तान का असल मकसद धर्मांतरण था, इसलिए उसने इसे बढ़ावा दिया.1886 में टीपू सुल्तान के पोते गुलाम मोहम्मद ने हैदर अली खान बहादुर और टीपू सुल्तान के जीवन पर एक किताब लिखी थी. जिसे दोबारा 1976 में छापा गया. इसमें उनके पोते ने बताया कि टीपू सुल्तान के इस्लाम के लिए क्या क्या कार्य किये हैं.
ऐसे साशक टीपू सुल्तान की जयंती को लेकर फिर विवाद बढ़ गया है. बीजेपी नेता केंद्रीय कौशल विकास राज्य मंत्री अनंत कुमार हेगड़े ने कहा कि टीपू सुल्तान से संबंधित किसी कार्यक्रम में उनको ना बुलाया जाए. उनके इस बयान के खिलाफ अब टीपू सुल्तान के वंशज कानूनी कार्रवाई करने की तैयारी कर रहे हैं. दरअसल हेगड़े ने टीपू सुल्तान को मास रेपिस्ट और निर्मम हत्यारा करार दिया था, उसके बाद वह लगातार विवादों में है. लेकिन अब हेगड़े के खिलाफ टीपू के वंशज कानूनी कार्रवाई करने जा रहे हैं।
आपको बता दें के हेगड़े ने कर्नाटक सरकार से टीपू सुल्तान के कार्यक्रम का न्योता भेजे जाने पर ऐतराज जताया था. जिसके बाद टीपू सुल्तान के वंशज बख्तियार अली ने फैसला लिया है कि वह परिवार के अन्य सदस्यों के साथ बैठक करके इस बात का फैसला लेंगे कि हेगड़े के बयान के बाद उनके खिलाफ कानूनी कार्रवाई की जाए. बख्तियार अली टीपू सुल्तान की छठी पीढ़ी के वंशज है. अगर कोई इंसान अपनी ताकत और ओहदे का इस्तेमाल लोगो की भलाई के बजाय कट्टरपंथ को बढ़ावा देने में करता हो, जिसके लिए उसने बच्चों तक को नहीं बक्शा हो. उस इंसान की अगर पुण्यतिथि पर जाने से अगर कोई ऐतराज जताये तो क्या वो गलत है या सही ?
Tipu Sultan’s family go court against BJP MP

सुदर्शन के राष्ट्रवादी पत्रकारिता को आर्थिक सहयोग करे और राष्ट्र-धर्म रक्षा में अपना कर्त्तव्य निभाए
DONATE NOW

Share