दुर्दांत खालिस्तानी चरमपंथी को दबोच लिया दिल्ली पुलिस ने.. 50 से ज्यादा हमले में थी तलाश

इसको दिल्ली पुलिस की सतर्कता का परिणाम ही कहा जायेगा जो उसने रीढ़ तोड़ कर रख दी है उन चरमपंथ के राह पर चल रहे गुमराहो की जिनको शायद अपने हित और अहित का पता भी नहीं है .  पुलिस के मुताबिक, शातिर गुरसेवक विभिन्न आपराधिक वारदातों के चलते 26 साल से अधिक समय तक जेल में भी रहा है। इतना ही नहीं, वह पाकिस्तान से संबंधित आतंकों समूहों के संपर्क में था। गुरसेवक खालिस्तानी कमांडो फोर्स (KCF) का सक्रिय आतंकी है।

इसने अपने दौर में 50 से ज्यादा आतंकी घटनाओं को अंजाम दिया था। 1980 के दौर में जब पंजाब में हो रही आतंकी गतिविधियों के दौरान इसने पुलिस अधिकारियों की हत्या, बैंक और पुलिस थानों में डकैती की घटनाएं की थीं। यह आतंकी जरनैल सिंह भिंडरावाला का करीबी भी रहा है, जिसे 1984 भारतीय सेना ने मार गिराया था।

50 से अधिक वारदातों में शामिल लंबे समय से फरार एक आंतकी को दिल्ली पुलिस की क्राइम ब्रांच ने गिरफ्तार किया है। 53 साल का गुरसेवक उर्फ बबलू खालिस्तान कमांडो फोर्स से जुड़ा हुआ है और भिंडरावाले का भी निकट सहयोगी रहा है। पुलिस ने आतंकी गुरसेवक की गिरफ्तारी उस वक्त की, जब वह वह दिल्ली के आइएसबीटी पर अपने करीबी से मिलने आया था।

Share This Post