भारतीय दूतावास का अथक प्रयास लाया रंग, ताहिर से धोखा खाई उज्मा आई वतन वापिस

पाकिस्तान में जबरन शादी का शिकार हुई भारतीय महिला उज्मा अहमद अपने वतन वापस लौट आई है। उज्मा गुरुवार को सुरक्षा के बीच वाघा सीमा पर पहुंची, वहां पर भारतीय अधिकारियों ने उनको रिसीव किया। भारतीय सीमा में प्रवेश करने से पहले उज्मा ने धरती को छूकर प्रणाम किया। बता दें कि उज्मा एक भारतीय महिला है। उज्मा का दावा था कि पाकिस्तान के बुनेर के रहने वाले ताहिर अली से निकाह के लिए उन्हें मजबूर किया गया।

उनके माथे पर बंदूक रखकर उन्हें जान से मारने की धमकी दी गई और प्रताड़ित और अपमानित किया गया। बुधवार को सुनवाई के दौरान पाकिस्तानी न्यायाधीश मोहसिन अख्तर कयानी ने उज्मा से पूछा था कि क्या वह उनके चैम्बर में अपने ‘शौहर’ से मिलना चाहती हैं? इस पर उज्मा ने इससे इनकार कर दिया था। उच्च न्यायालय ने आदेश दिया कि उज्मा अपने देश जा सकती हैं और इस मामले की सुनवाई उनकी अनुपस्थिति में होगी। उज्मा ने इस्लामाबाद स्थित भातीय उच्चायोग में शरण ले रखी थी। वह वतन लौटना चाहती थीं।

उज्मा ने भारत वापस लौटने के लिए इस्लामाबाद हाई कोर्ट में याचिका दाखिल की थी। कोर्ट ने मामले की सुनवाई करते हुए उसे भारत वापस जाने की अनुमति दे दी थी। साथ ही कोर्ट ने पुलिस को निर्देश दिए थे कि वह उज्मा को वाघा बॉर्डर तक सुरक्षा मुहैया कराए। कोर्ट में उज्मा को उसके असली इमिग्रेशन दस्तावेज लौटा दिए। उज्मा के भारत लौटने के बाद विदेश मंत्री सुषमा स्वराज ने ट्वीट कर कहा कि भारत की बेटी का घर में स्वागत है, तुम्हारे साथ जो भी हुआ उसके लिए मुझे खेद है।

Share This Post