विदेशी साजिशों को ध्वस्त कर वैदिक आयुर्वेद पद्धति को पुनर्जीवित करने वाले आचार्य बालकृष्ण को UNSDG करेगा सम्मानित. योग के बाद अब योगगुरु का भी बजा डंका


ये भारत के लिए गौरवशाली पल है जब पहले तो भारत का डंका दुनिया भर में योग के लिए बजा तो अब उसी भारत के योगगुरु का डंका दुनिया भर में बजेगा .. हमारे ऋषि मुनियों की दी गई वैदिक आयुर्वेद परम्परा ने सनातन समाज को सदियों ही नहीं बल्कि शताब्दियों तक और युगों युगों तक स्वस्थ रखा था . लेकिन समय के साथ उसी वैदिक आयुर्वेद परम्परा पर विदेशी आघात होने लगे और धीरे धीरे भारत दूर होता चला गया अपने ही पूर्वजो की दी गयी उन पद्धतियों से जो उसके स्वस्थ तन व् मन की आधार थीं .

लेकिन ठीक समय पर दुनिया भर में योग गुरु के नाम से विख्यात बाबा रामदेव जी ने हमारी लुप्तप्राय होती इस पद्धति को पुनर्जीवित करने का प्रयास किया और उसके सुखद परिणाम देखने को मिले . यद्दपि इस संघर्ष में योगगुरु बाबा रामदेव जी और उनके इस राष्ट्रहित में सबसे निकटतम सहयोगी आचार्य बालकृष्ण को बहुत कुछ झेलना पड़ा .. उन पर व्यक्तिगत हमलों के अलावा पुलिस का दुरूपयोग कर के हमला भी करवाया गया पर वो अपने कर्तव्यपथ पर अडिग रहे ..

आखिरकार अब वही अडिगता दुनिया ने देखी और उस संघर्ष को झुक कर सम्मान देने का फैसला किया है . ज्ञात हो कि पतंजलि योगपीठ के महामंत्री आचार्य बालकृष्ण जी को संयुक्त राष्ट्र संघ की ओर से संचालित यूनाइटेड नेशन सस्टेनेबल डेवलपमेंट गोल्स (यूएनएसडीजी) ने प्राथमिक स्वास्थ्य के क्षेत्र में काम कर रहे दुनिया के 10 अत्यंत प्रभावशाली व्यक्तित्व अवॉर्ड से सम्मानित किया है। उन्हें यह अवॉर्ड 25 मई को जेनेवा में होने वाले विशेष सम्मेलन में दिया जाएगा। इतना ही नहीं , आचार्य बालकृष्ण जी इस सम्मेलन में आये दुनिया भर के लोगों को संबोधित भी करेंगे। इनमें देशो की संख्या लगभग 50 होगी और प्रतिनिधियों की संख्या लगभग 500.

इस अतिमहत्वपूर्ण सम्मेलन का आयोजन वल्र्ड हेल्थ फोरम द्वारा कराया गया है जिसके मुख्य लक्ष्य में वैश्विक सार्वजनिक स्वास्थ्य और विकास को मंच प्रदान करना है। इस सम्मेलन का उद्देश्य सस्ती प्राथमिक स्वास्थ्य देखभाल, स्वास्थ्य प्रणालियों को मजबूत करना व सामुदायिक, जिला और देश के अनुसार स्वास्थ्य सेवा वितरण में तेजी लाना है। सम्मेलन में नए सरल, पारदर्शी और जवाबदेह लोगों के द्वारा समर्थित नए समाधानों का प्रस्ताव किया जाएगा।  यूएनएसडीजी प्राइमरी हेल्थ केयर, यूनिवर्सल हेल्थ, गरीबी उन्मूलन, विश्वशांति व समृद्धि के लिए काम करता है।

 


सुदर्शन के राष्ट्रवादी पत्रकारिता को आर्थिक सहयोग करे और राष्ट्र-धर्म रक्षा में अपना कर्त्तव्य निभाए
DONATE NOW

Share
Loading...

Loading...