एतिहासिक फैसले के बाद पूरे भारत में ख़ुशी से सडको पर उतरे लोग. लग रहे हैं “हिंदुस्थान जिंदाबाद’ के नारे

ये वो फैसला है जिसके बाद अचानक ही पूरे देश में ऐसा जश्न मनाया जाने लगा है जैसे कभी स्वतंत्रता प्राप्ति के बाद मनाया गया था.. भारत का अभिन्न अंग एक अलग धारा के चलते अलग सा लगता था . इतने नियम और इतने कानून लागू थे वहां पर कि आम आदमी तो दूर खुद भारत के सैनिक भी आये दिन कई समस्याओ का सामना कर थे थे . वो ऐसे नियम थे जिसका फायदा पाकिस्तान सबसे ज्यादा उठा रहा था .. आखिरकार खत्म हो गया वो सब नियम कानून .

आज शांति मिली श्यामा प्रसाद मुखर्जी की आत्मा को.. “जहाँ हुए थे बलिदान मुखर्जी” … अब वो कश्मीर हमारा है

विदित हो कि कश्मीर से धारा ३७० को खत्म करने की घोषणा कर दी गई है . भारतीय जनता पार्टी के उदय के बाद ही ये भाजपा के एजेंडे में था और आखिरकार इन्होने वो कर ही दिखाया है . भगवान् से प्रार्थना कर रहे लाखों कश्मीरी हिन्दुओ ने आज कई वर्ष बाद खुल कर जश्न मनाया है . उन्होंने मोदी को और उनकी सरकार के एक एक व्यक्ति को धन्यवाद देते हुए एक बार फिर से कश्मीर में अपने उन दिनों के लौटने की आशा की है और फिर से अपने घरों की तरफ लौटने की तैयारी कर रहे हैं .

फोन पर दिया तीन तलाक.. बीवी ने याद दिलाया क़ानून तो बोला- “Sorry” गलती हो गई

जैसे ही सदन में अमित शाह ने ये घोषणा की वैसे ही पूरे भारत में लोग सडको पर उतर आये और वन्देमातरम के साथ भारत माता की जय के नारे लगने लगे .. हर तरफ पटाखे फोड़े जाने लगे और ख़ुशी से झूमते लोग मिठाई बांटने लगे . आम लोगों का ये कहना है कि जिस चीज की आशा उनको नरेंद्र मोदी से थी वो आशा पूर्ण हो गई है और अब उन्हें पूरा विश्वास है कि मोदी और शाह की जोड़ी ही इस देश को पुराना खोया हुआ गौरव वापस दिलाएगी .

राष्ट्रवादी पत्रकारिता को समर्थन देने के लिए हमें सहयोग करेंनीचे लिंक पर जाऐं

Share This Post