Breaking News:

राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत का सभी गुजरातियों पर बेहद अपमानजनक आरोप.. गुजरात के घर – 2 पर लगाया ये आक्षेप

राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने भारतीय जनता पार्टी सरकार के खिलाफ बोलते हुए अपने बयानों और विरोधो की परिधि इतनी बढा दी की उसमे सीधे सीधे वो जनता भी शामिल हो गई है जो पिछले बार के विधानसभा चुनावों में कांग्रेस को अच्छी खासी संख्या में सीटें दे कर लड़ाई में वापस लाई थी . राजस्थान से अपनी तारीफ में दिया गया ये बयान गुजरात की जनता को किस प्रकार से आघात पंहुचा रहा है ये आने वाले समय में जनता ही निर्धारित करेगी लेकिन एक बार फिर से आया है एक विवादास्पद बयान .

ध्यान देने योग्य है की राजस्थान के मुख्यमंत्री ने सीधे सीधे गुजरातियों को शराबी बताते हुए यहाँ तक कह डाला है की गुजरात के घर घर में शराब पी जाती है . शराबबंदी पर अपनी राय रखते हुए शराबबंदी का समर्थन करने के साथ उन्होंने भाजपा के बजाय सीधे सीधे गुजरात की जनता को ही निशाने पर लेते हुए कहा की गुजरात में सबसे ज्यादा शराब की खपत है अर्थात गुजराती लोग भारत में सबसे ज्यादा शराब पीते हैं जबकि वहां आज़ादी के बाद से ही शराब प्रतिबंधित है .. अर्थात गुजरातियों को सीधे सीधे शराबी बता दिया गया जबकि गुजरती व्यंजन भारत में शाकाहारी व्यंजनों की श्रेणी में सबसे उच्च श्रेणी में माने जाते हैं . लेकिन गहलोत ने मुख्य रूप से सिर्फ शराब को ही प्रमुखता से आगे रखा ..

यद्दपि बाद में अपनी भूल सुधारते हुए उन्होंने आगे भारतीय जनता पार्टी को कर दिया लेकिन तब तक बयान उनके मुह से निकल चुका था .. आगे उन्होने बताया कि ‘गांधी के गुजरात’ का ये हाल है. प्रतिबंध लगाने का तब तक कोई फायदा नहीं जब तक कुछ कड़े इंतजाम ना किए जाएं. गुजरात में भाजपा की सरकार है. इस से पहले भी गांधी के बहाने गहलोत भारतीय जनता पार्टी को निशाना बनाते रहे हैं. गहलोत से राज्‍य में शराबबंदी पर सवाल पूछा गया था. उन्‍होंने मीडिया से कहा, “निजी रूप से मैं शराब पर प्रतिबंध का समर्थन करता हूं. एक बार इसे (शराब) यहां (राजस्‍थान) प्रतिबंधित किया गया था मगर वह फेल हुआ और बैन हटा लिया गया.”

 

सुदर्शन न्यूज को आर्थिक सहयोग करने के लिए नीचे लिंक पर जाएँ –

http://sudarshannews.in/donate-online/

राष्ट्रवादी पत्रकारिता को समर्थन देने हेतु हमे आर्थिक सहयोग करे. DONATE NOW पर क्लिक करे
DONATE NOW