Breaking News:

बिजनौर के मदरसे में हथियार मिलने के बाद बोले वसीम रिज़वी- “जल्द बंद न हुए ये आतंक के अड्डे तो समय 20 साल से ज्यादा नहीं बचा”

बिजनौर के मदरसे में मिले घातक हथियारों के बाद अब एक बार फिर से पूरे भारत में चर्चा चल गयी है कि क्या सच में मदरसों में वो शिक्षा नहीं मिलती जिसकी चर्चा आये दिन बड़े बड़े मौलाना और मौलवी आदि टी वी डिबेट में किया करते हैं . क्या सच में वहां कुछ लोग ऐसा कुछ पढाते हैं जो मासूम बच्चो को आतंक और कट्टरपंथ की दिशा में ले जाती है ? बिजनौर के इस मामले में जहाँ पुलिस की जाबाज़ी चर्चा में है तो वही अब मदरसों पर उँगलियाँ उठाना शुरू हो गई है वो भी बड़े नामो द्वारा .

प्रयागराज में दिखा कश्मीर जैसा नजारा.. पुलिस को घेर लिया उन्मादियों ने और छुड़ा ले गये गौ तस्करों को.. प्रार्थना करें घायल पुलिस जवानों के लिए

इसी में एक नाम है वसीम रिज़वी का जो वर्तमान समय में उत्तर प्रदेश सेंट्रल शिया वक्फ बोर्ड के अध्यक्ष हैं.   अपने बेबाक बयानों के लिए सदा चर्चा में रहने वाले वसीम रिज़वी ने एक  बार फिर से वो बयान दिया है जो यकीनन कट्टरपन्थियो को रास नहीं आने वाला है .. वसीम रिज़वी ने मीडिया को दिए अपने बयान में  कहा है कि उत्तर प्रदेश के बिजनौर के मदरसे में मिले हथियारों ने  ये साबित किया है कि वहाबी विचारधारा वाले मदरसों के अन्दर आतंक की शिक्षा मासूम बच्चो को दी जा रही है .

सोमालिया के होटल में भीषण इस्लामिक आतंकी हमला.. 26 लोगों की मौत

वसीम रिज़वी ने सरकार से फ़ौरन ही ऐसे मदरसों को बंद कर देने और उसके बदले सरकारी स्कूल खोलने की मांग की है वरना उनके अनुसार मात्र 15 से 20 वर्ष के अन्दर भारत में हर कहीं ISIS जैसे आतंकी दिखाई देंगे और अभी पढ़ रहे नौनिहाल आने वाले समय में हिंसक आतंकी बन गये होंगे .. वसीम रिज़वी ने मदरसों को इस से पहले भी कई बार अपनी आवाज उठाई है और कश्मीर से ले कर उत्तर प्रदेश में मदरसों की कई गतिविधियों ने वसीम रिज़वी के बयानों पर लगातार मुहर भी लगाईं है ..अब देखना ये है कि सरकार के सक्षम लोग वसीम रिज़वी की सच साबित होती जा रही बातों पर अमल कब करते हैं .

राष्ट्रवादी पत्रकारिता को समर्थन देने के लिए हमें सहयोग करेंनीचे लिंक पर जाऐं

Share This Post