सेना प्रमुख को गुंडा कहने वालों पर कोई भी कार्रवाई न करने वाली कांग्रेस ने राहुल गाँधी को पप्पू कहने वाले नेता को तत्काल पार्टी से बाहर किया…


कांग्रेस पार्टी के उपाध्यक्ष राहुल गांधी आज कल एक नए नाम से जाने जाते है। सांता बंता और सरदारों के ऊपर बनने वाले जोक के बाद अब राहुल गाँधी के नए नाम पप्पू के ऊपर भी बनने लगी है पप्पू के नाम से मशहूर हुए राहुल गाँधी को अभी तक विपक्षी ही उनको इस नाम से बुलाते है। हाल ही में राहुल गाँधी अपने ननिहाल इटली जाने की बात कही है उस पर बीजेपी नेता ने कहा कि जब हम भी बच्चे थे तो ननिहाल जाने की बात करते थे। आपको बता दें कि मेरठ के जिला अध्यक्ष ने अपने ही पार्टी के उपाध्यक्ष राहुल गांधी की मजाक उड़ाते हुए वॉट्सऐप पर एक मेसेज डाला और उसमे उनका साथ देने की बात कही।

लेकिन इस मेसेज में कई बार प्रधान द्वारा राहुल गांधी को ‘पप्पू’ कहकर संबोधित किया गया है। इससे सकते में आए कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष राजबब्बर ने तुरंत इस नेता के खिलाफ कार्रवाई करने को कहा। अनुशासन समिति के चेयरमैन ने विनय प्रधान को पार्टी से सस्पेंड करते हुए जिलाध्यक्ष समेत सभी पदों से हटा दिया। पोस्ट को भी वॉट्सऐप ग्रुप से हटा दिया गया। मंगलवार को उस समय कांग्रेस पार्टी के सामने अजीब हालात पैदा हो गए, जब पार्टी के ही मेरठ जिलाध्यक्ष ने राहुल के लिए बार-बार ‘पप्पू’ शब्द का इस्तेमाल किया।

जिलाध्यक्ष ने राहुल की सादगी की तारीफ की, उनके द्वारा किए गए त्याग का बखान किया और उनके साफ़ सुथरी छवि की भी तारीफ की उनका सहयोग करने की अपील की। लेकिन उनके वह शब्द इस्तेमाल करने की वजह से उन्हें पार्टी से निकाला दिया गया। कांग्रेस के नेताओं का कहना है कि विनय जल्द ही बीजेपी में शामिल हो सकते हैं, इसीलिए उन्होंने ऐसी पोस्ट डाली। यूपी विधानसभा चुनाव के दौरान भी विनय के खिलाफ मेरठ साउथ सीट पर बीजेपी प्रत्याशी की मदद करने का आरोप लगाते हुए पार्टी आलाकमान से शिकायत की गई थी।


सुदर्शन के राष्ट्रवादी पत्रकारिता को आर्थिक सहयोग करे और राष्ट्र-धर्म रक्षा में अपना कर्त्तव्य निभाए
DONATE NOW

Share