Breaking News:

जांबाज़ IPS अजय पाल शर्मा के बाद अब ठीक वही साजिश UP के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के खिलाफ. कौन है वो जिसके निशाने पर है UP का शासन और प्रशासन

कहा जाता है कि अगर अपराध को शुरुआत में ही कुचल दो तो वो आगे चल कर बड़ा वटवृक्ष बनने के बजाय मुरझा जाता है अन्यथा अगर उसको पनपने का मौक़ा दिया जाय तो धीरे धीरे उसकी जड़ें गहरी होती चली जाती हैं . उत्तर प्रदेश में जो कुछ भी हो रहा है वो किसी को भी एक बार सोचने पर मजबूर कर देगा कि दुर्दांत और खूंखार अपराधियों व डाकुओं पर कहर बन कर गिर रहा प्रशासन आख़िरकार साजिशकर्ताओं के आगे क्यों घुटने टेक दे रहा जिनके निशाने पर उत्तर प्रदेश का शासन और प्रशासन है ..

विदित हो कि कुछ समय से उत्तर प्रदेश के सबसे चर्चित IPS अधिकारी और एनकाऊंटर मैंन कहे जाने वाले अजय पाल शर्मा के खिलाफ एक गहरी साजिश रची जा रही थी . अपने कारनामो से तेलंगाना तक शाबाशी का प्रतीक बने अजय पाल शर्मा के खिलाफ एक महिला लागातार ट्विटर और यूट्यूब पर वीडियो के साथ कमेन्ट जारी कर रही है जिसमे वो खुद को उनकी पत्नी बताती है.. उसके तमाम आरोप मात्र जुबानी और ट्विटर तक ही सीमित हैं जिसके कोई सबूत आदि नहीं है ..

इतना ही नहीं , उस महिला के ऊपर आधे दर्जन के करीब मुकदमे दर्ज हैं इसके बाद भी वो लगातार फेसबुक, यूट्यूब और ट्विटर पर लाइव आ रही है .. इसके चलते अपनी जांबाजी के लिए पूरे भारत में विख्यात अधिकारी लगातार मानसिक तनाव से जूझ रहा है जिसका असर प्रदेश की कानून व्यवस्था तक पर दिखा है . इतने के बाद भी ये महिला पुलिस की पकड से दूर है और हालात यहाँ तक बने कि इसने नये नए वीडियो जारी करते हुए गाजियाबाद पुलिस के पूरे स्टाफ को दोषी ठहरा दिया .

इसी महिला के ऊपर खुद मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के खिलाफ अभद्र और अश्लील टिप्पणी करने का आरोप भी है लेकिन न जाने किस अदृश्य शक्ति के चलते प्रशासन लाचार दिख रहा इन्हें गिरफ्तार करने में . इस महिला ने एक ही नहीं कई पुलिस अधिकारियो के खिलाफ ऐसी ही अश्लीललता दिखाई है जिसके बाद भी इसको लगातार प्रशासनिक छूट मिलती रही .. अब उसी का दुष्परिणाम देखने को मिला है कि एक महिला उतरी है खुद मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ तक के खिलाफ .

एक महिला उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री को अपना प्रेमी और खुद को उनकी प्रेमिका बता रही है . वो मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के जन्मदिन पर उनसे मिलने आई थी और वही मुख्यमंत्री आवास के बाहर बैठ गई . इस लडकी ने योगी आदित्यनाथ का जीवन भर का साथ माँगा है और दुस्साहसिक रूप से एक लव लेटर मुख्यमंत्री आवास के अन्दर भेजा है.. इसको इंतजार था मीडिया के आने का और आख़िरकार वो मीडिया के सामने अपनी हरकतों को दिखाने में कामयाब रही ..

ये महिला खुद का नाम हेमा सक्सेना बता रही है और कानपुर शहर की बताई जा रही है.. आरोप लगाने और सामने वाले को परेशान करने का अंदाज़ ठीक गाजियाबाद की उसी महिला जैसा है जो खुद को अजय पाल शर्मा की पत्नी होने का दावा कर रही है .. उसके पास भी कोई सबूत नहीं है और इस महिला के पास भी कोई सबूत नहीं . उसने भी मीडिया की सनसनी बनना चाहा और इसने भी.. उसका भी IPS से प्रथम दृष्टया कोई मेल नहीं है और इस महिला का भी मुख्यमंत्री से कोई मेल नहीं .. अजय पाल शर्मा को बदनाम करने के लिए जिस प्रकार से गुमनाम और अमान्य न्यूज पोर्टलों का सहारा लिया गया था , ठीक उसी प्रकार से योगी आदित्यनाथ के खिलाफ भी उसी से मिलते जुलते प्लेटफार्मो का सहारा लिया जा रहा है .

फिलहाल यहाँ पर कहना गलत नहीं होगा कि अपराध का तेजी से दमन कर रहे प्रदेश में इस प्रकार की साजिशो का सफल होना निश्चित रूप से चिंताजनक है. अपनी काल डिटेल आदि दिखने में असफल रहने के बाद उस महिला का कहना है कि योगी जी न जाने किस एप से उस से बात करते थे .. यहाँ तक कि उसको भी नहीं पता उसके बारे में .. यकीनन अगर गाजियाबाद से आने वाले और बड़े खतरे का सबक लिया गया होता तो साजिश की ये आंच योगी आदित्यनाथ तक कतई नहीं पहुची होती ..

संभव ये भी है कि इस साजिश के तार गाजियाबाद से भी जुड़े हो सकते हैं क्योकि दोनों के बयानों और साजिश के तरीकों का अंदाज़ एक जैसा ही मिलता जुलता है .. वैसे भी गाजियाबाद आईपीएस के खिलाफ रची गई साजिश के बाद एक बड़े पैमाने पर कई लोगों ने देखा और पाया था कि एक गैंग सोची समझी रणनीति से अपने लक्ष्य तय कर रहा है और उस पर किसी भी स्तर तक गिर कर वार कर रहा है.  ट्विटर पर देख सकते हैं कि पहले से तैयार कुछ लोगों के अपने अंदाज़ में वार शुरू हो गये हैं –

 

 

 

राष्ट्रवादी पत्रकारिता को समर्थन देने हेतु हमे आर्थिक सहयोग करे. DONATE NOW पर क्लिक करे
DONATE NOW