Breaking News:

एक बार वो फिर से खेल रहे हैं आग से. वही जो असम के अन्दर छेड़ रहे हैं बोडो महिलाओं को

जिस प्रकार से NRC ने कई नाम नहीं आये और उसके बाद तमाम राजनैतिक दांव पेच फेल हो गये हैं कईयों के उसके बाद माना जा रहा था कि वो कोई न कोई ऐसा आत्मघाती कदम उठा सकते हैं जो कम से कम उनके लिए तो सही नहीं ही कहा जा सकता है . ये वही लोग हैं जो मीडिया के आगे आ कर सहानभूति के तौर पर अपने नकली चेहरे पेश किया करते हैं लेकिन बाद में रात के अँधेरे में उनके रूप रंग के साथ काम भी बदल जाया करते हैं . एक बार फिर से उकसाया जा रहा असम को ..

विदित हो कि असम में बोडो और बंगलादेशी का विवाद एक बड़े दंगे की शक्ल पहले भी ले चुका है . वहां पर इस प्रकार की उकसाने वाली हरकतें सीधे सीधे आगे से खेलने जैसी मानी जाती हैं. जब से NRC मामला चर्चा में आया है तब से असम के बोडो बहुल कोकराझाड़ जिले से महिलाओं व लड़कियों के खिलाफ छेड़छाड़ और अश्लील हरकतों की घटनाओं में आश्चर्यजनक रूप से बढ़ोतरी हुई है इसी के कारण यह मांग उठाई गई है। जिले के नागरिकों व कई NGO ने यह मांग राज्य के मुख्यमंत्री सर्बानंद सोनोवाल के समक्ष रखी है..

यहाँ पर एक बार फिर से उकसाने वाली हरकते की जा रही है जिसका आरोप घुसपैठियों पर हैं . आरोपों के अनुसार ये लोग महिलाओं और लड़कियों के साथ अश्लील हरकतें कर उनके वीडियो बना कर सोशल मीडिया पर पोस्ट कर रहे हैं। साथ ही घुसपैठिए रात को इलाके में घुसकर महिलाओं को निशाना बना रहे हैं। इसका विरोध करते हुए कहा गया है कि ऐसी घटनाओं पर रोक लगाने के लिए मुख्यमंत्री व BTC अध्यक्ष Hagrama Mohilary को कड़े कदम उठाने के लिए कहा है।

इस मामले में दिए गये एक ज्ञापन में जिले में विशेष तौर पर बोडो बहुल ट्राइबल एरिया में रहने वाली महिलाओं व लड़कियों की सुरक्षा को लेकर कड़े कदम उठाने मांग की है। अपने इस ज्ञापन के जरिए जिले के छात्रों, महिला संगठनों, एनजीओ तथा नागरिकों ने सरकार को सम्बोधित करते हुए कहा है कि कोकराझाड़ कस्बा इलाके में कई असामाजिक संगठन जबरदस्ती घुस रहे हैं तथा इलाके महिलाओं और लड़कियों को अपना निशाना बना रहे हैं।

 

सुदर्शन न्यूज को आर्थिक सहयोग करने के लिए नीचे लिंक पर जाएँ – 

http://sudarshannews.in/donate-online/

राष्ट्रवादी पत्रकारिता को समर्थन देने हेतु हमे आर्थिक सहयोग करे. DONATE NOW पर क्लिक करे
DONATE NOW