Breaking News:

अब हमीरपुर में बलात्कार के बाद मार डाली गई 11 साल की मासूम बच्ची.. लाश मिली “कब्रिस्तान” में


आखिर वो कौन हैं जिनके निशाने पे आ चुकी हैं वो अबोध और मासूम बच्चियां जिनकी अभी आंखे तक नही खुली हैं..हिन्दू समाज मे जिन मासूम बच्चियों को देवी बना कर पूजा जाता है उनको कौन सी सोच ने दरिंदगी की ऐसी साजिश मव जकड़ रखा है जो कभी स्थान और कभी नाम बदल कर मौत के घाट उतार रही है.. अलीगढ़ से चला ये खूनी सिलसिला बाराबंकी होते हुए बरेली और मेरठ तक पहुचा था तो ऐसा लगा कि शायद अब काबू हो ये हैवानियत लेकिन वो हैवानियत का नँगा नाच बढ़ता ही जा रहा है और अब वो खूनी सिलसिला पहुच गया है उत्तर प्रदेश के हमीरपुर जिले तक जहां एक और मासूम बना दी गयी है उसी सोच वाले दरिंदो की शिकार..

9 जून: बलिदान दिवस पर नमन कीजिये महाबली बिरसा मुंडा को आज के ही दिन अंग्रेजों की तोपों व बन्दूकों के आगे अपनी छाती अड़ा कर उनका वध तीरों से करते हुए हो गये थे अमर

विदित हो कि ताजा मामला उत्तर प्रदेश के ही जनपद हमीरपुर से है जहां पर 11 साल की बच्ची को घर से सोते समय हवस की आग में जल रहे कुछ दरिंदे उठा कर अपने साथ कब्रिस्तान तक ले गए और वहां उसके साथ समूहिक बलात्कार करने के बाद उसको मार डाला है.. बच्ची चीख न पाए इसलिये अंदेशा ये जताया जा रहा है कि एक साथ कई दरिंदो ने उसका मुंह दबा रखा था. इन घटना से पहले बरेली में भी एक बच्ची के साथ कब्रिस्तान में बलात्कार की शिकायत आई थी जिसमे बलात्कारी दरिंदे का नाम अरबाज था.. इस घटना की खबर फैलते ही इलाके में तनाव फैल गया और पुलिस ने मोर्चा संभाल कर दरिंदो की पहिचान कर के उनकी गिरफ्तारी के हर संभव प्रयास शुरू कर दिए हैं..बच्ची के साथ हुई हैवानियत किसी के भी रोंगटे खड़े करने देने के लिए काफी है..बच्ची के पिता ने बताया कि वो गांव के ही एक स्कूल में कक्षा पांच की छात्रा है। घर में अक्सर उसे अकेला छोड़कर चले जाते थे पर ऐसा कभी कुछ हो जाएगा सोचा ही नहीं था।

मोदी का नारा चुराया एक और देश ने और लगने लगे हैं नारे कि- “आएगा तो……”

कुरारा क्षेत्र के शिवनी गांव में 11 साल की एक बच्ची के साथ रेप कर उसकी हत्या कर दी गई है। घटना के वक्त बच्ची के पिता मजदूरी के लिए गए थे और बच्ची घर में अकेली थी। इसी दौरान गांव के ही कुछ दरिंदे घर से बच्ची को उठाकर एक जगह ले गए और वहां उसके साथ बलात्कार किया और गला दबाकर उसकी हत्या कर दी। बच्ची का शव गांव के ही कब्रिस्तान से बरामद किया गया। वहीं, वारदात को अंजाम देने के बाद दरिेंदे वहां से फरार हो गए। बच्ची के मां-बाप ईट भट्ठे में मजदूरी करते है। घटना के बाद से आक्रोशित ग्रामीणों ने हंगामा करना शुरु कर दिया। पुलिस ने जब पोस्टमार्टम के लिए बच्ची का शव ले जाने के लिए कहा तो ग्रामीण पुलिस से भिड़ गए।बच्ची का शव शनिवार सुबह मिला है। उसके शव पर छोटों के निशान और कपड़े देखकर उसके साथ दरिंदगी की आशंकाएं तेज हो गईं हैं

राष्ट्रवादी पत्रकारिता को समर्थन देने के लिए हमें सहयोग करें. नीचे लिंक पर जाऐं-


सुदर्शन के राष्ट्रवादी पत्रकारिता को आर्थिक सहयोग करे और राष्ट्र-धर्म रक्षा में अपना कर्त्तव्य निभाए
DONATE NOW

Share