कहीं अब सिंधिया भी शामिल न हो जाएं कांग्रेस मुक्त भारत के अभियान में.. मध्य प्रदेश में लगा एक पोस्टर बहुत कुछ कहता है


लोकसभा चुनाव 2019 में मिली करारी हार के झटकों से कांग्रेस पार्टी अभी तक उबर नहीं सकी है. इसके बाद राहुल गांधी ने जब पार्टी के अध्यक्ष पद से इस्तीफ़ा दिया, तो 3 महीने तक पार्टी अध्यक्ष नहीं खोज पाई. इसके बाद उन सोनिया गांधी को अध्यक्ष बनाना पड़ा, जिनके बारे में कहा जा रहा था कि गांधी परिवार का कोई सदस्य पार्टी प्रमुख नहीं बनेगा. इसके अलावा देश के अनेक राज्यों से कांग्रेस के तमाम कद्दावर नेता पार्टी छोड़ बीजेपी या ने दूसरे दलों से जुड़ चुके हैं.

लेकिन अब कांग्रेस को पार्टी के कद्दावर नेता ज्योतिरादित्य सिंधिया की तरफ के तगड़ा झटका लग सकता है. पिछले काफी समय से ये चर्चाएँ जोड़ पकड रही हैं कि ज्योतिरादित्य सिंधिया कांग्रेस छोड़ बीजेपी से जुड़ सकते हैं. इन खबरों को बल इसलिए भी मिलता रहा है क्योंकि ऐसी खबरों का सिंधिया ने कभी खंडन नहीं किया बल्कि उन्होंने कई मुद्दों पर कांग्रेस की पार्टी लाइन से हटकर बयान दिए हैं तथा सरेआम कांग्रेस की आलोचना भी है तथा पार्टी को आईना है.

अब एक बार फिर सिंधिया के कांग्रेस छोड़ बीजेपी से जुड़ने की ख़बरें जोड़ पकड रही हैं. इसके पीछे का कारण मध्यप्रदेश के भिंड में लगा वो पोस्टर है जिसमें सिंधिया की तस्वीर पीएम मोदी तथा बीजेपी प्रेसिडेंट अमित शाह के साथ छपी है. पोस्टर में सिंधिया के चुनाव के बाद पहली बार भिंड आगमन पर स्वागत किया गया है. साथ ही कश्मीर से 370 हटाए जाने के फैसले को समर्थन देने के लिए आभार व्यक्त किया गया है.

भारतीय रक्षा मंच के जिला संयोजक हृदेश शर्मा ने एक बैनर लगवाया है. जिसमे कांग्रेस नेता ज्योतिरादित्य सिंधिया के साथ पीएम नरेंद्र मोदी और केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह की तस्वीर लगी है. इस बैनर के जरिये कश्मीर से आर्टिकल – 370 हटाने को लेकर पीएम मोदी का समर्थन करने के लिए ज्योतिरादित्य सिंधिया का धन्यवाद दिया है. साथ ही आगे भी इस तरह देश हित के कार्यों में समर्थन जारी रखने के लिए सिंधिया से सोशल मीडिया पर भी अपील की है.

सिंधिया बीते दिनों भिंड इलाके के अटेर में बाढ़ पीड़ितों से मुलाकात करने पहुंचे थे. यहां उन्होंने पहले तो बाढ़ पीड़ितों की तत्काल सहायता करने को लेकर कमलनाथ सरकार को नसीहत दी, जिसने विपक्षी बीजेपी को हमलावर होने का मौका मिल गया. रही- सही कसर भिंड में सिंधिया के स्वागत के पोस्टर ने पूरी कर दी. इससे पहले ज्योतिरादित्य सिंधिया ने कर्जमाफी का वादा पूरा न होने की बात कहते हुए कमलनाथ सरकार पर निशाना साधा था.

ज्योतिरादित्य सिंधिया ने कहा कि हमारी सरकार ने किसानों के 2 लाख रुपये तक के कर्जमाफी का वादा किया था लेकिन किसानों के सिर्फ 50 हजार रुपये तक के कर्ज माफ हुए हैं. उन्होंने आगे कहा कि सरकार को किसानों का 2 लाख रुपये का कर्ज जरूर माफ करना चाहिए.  कांग्रेस के अंदर उठ रही बागी आवाज पर ज्योतिरादित्य सिंधिया ने सलाह देते हुए कहा था कि कांग्रेस को आत्म अवलोकन की जरूरत है और पार्टी की आज जो स्थिति है, उसका जायजा लेकर सुधार करना समय की मांग है.


सुदर्शन के राष्ट्रवादी पत्रकारिता को आर्थिक सहयोग करे और राष्ट्र-धर्म रक्षा में अपना कर्त्तव्य निभाए
DONATE NOW

Share