Breaking News:

पवित्र सावन माह में तेजोमहालय की परिक्रमा कर के आरती करने का एलान करने वाले नेता को शिवसेना ने निकाला

इस बयान से सनसनी मचा दी थी कभी और आगरा वालों को ऐसा लग रहा था कि शायद इसके चलते एक बार फिर से गर्म होगा साम्प्रदायिक माहौल .. जिस तेजोमहालय को ताजमहल बोला जाता है उसी की परिक्रमा महादेव की भक्ति के लिए प्रसिद्ध सावन के माह में करने व जल चढाने का एलान किया गया था. ये एलान करने वाला नेता शिवसेना का कार्यकर्ता था जो आगरा क्षेत्र में अपने गौ रक्षा और धर्मजागरण आदि के कार्यो को ले कर पहले से ही काफी चर्चा में रहा था .

इस युवा नेता का नाम वीनू लवानिया है जिनके हिसाब से ताजमहल कभी तेजोमहालय मन्दिर हुआ करता था और हिन्दुओ के पूर्वजो की धरोहर है इसलिए वहां पूजा आदि करना उनका धर्म है . इसी के चलते उन्होंने कांवड़ यात्रा के लिए विख्यात पवित्र सावन माह के सोमवारों पर उसकी आरती और परिक्रमा करने का एलान किया था। इस खबर के बाद एएसआई ने प्रशासन से स्मारक के आसपास पर्याप्त सुरक्षा की मांग भी की थी। लेकिन खबरों के अनुसार शिवसेना ने उस से पहले ही अपना पल्ला झाड़ लिया है .

मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार सोमवार को शिवसेना के प्रदेश प्रमुख ठाकुर अनिल सिंह की ओर से लिखे पत्र में कहा गया है कि उनकी पार्टी का न तो ताजमहल प्रकरण से और न ही वीनू लवानिया से कोई लेना देना है। वीनू लवानिया को पार्टी से भी निष्कासित कर दिया गया है। उन पर अनुशासनहीनता का भी आरोप था.  शिवसेना के प्रदेश प्रमुख ठाकुर अनिल सिंह ने जिलाधिकारी को पत्र में यह जानकारी देते हुए लिखा है कि वीनू लवानिया का पार्टी से कोई सरोकार नहीं है।


राष्ट्रवादी पत्रकारिता को समर्थन देने हेतु हमे आर्थिक सहयोग करे. DONATE NOW पर क्लिक करे
DONATE NOW

Share